भारत-पाक के बीच सीरीज रद्द हो सकती है ©Getty Images
भारत-पाक के बीच सीरीज रद्द हो सकती है ©Getty Images

भारत-पाकिस्तान की महिला टीम के बीच होने वाली द्विपक्षीय सीरीज पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं। बीसीसीआई ने सीरीज के संबंध में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के सीरीज होने या रद्द करने के बारे में किसी भी सवाल का जवाब नहीं दिया। भारत और पाकिस्तान के बीच अक्टूबर के अंत में सीरीज खेली जानी थी। सीरीज का आईसीसी महिला चैंपियनशिप के हिसाब से काफी महत्व है।

पाकिस्तान की मेजबानी में भारत को 3 मैचों की वनडे सीरीज खेलनी थी, और पीसीबी द्विपक्षीय श्रंखला को यूएई में कराने को भी राजी हो गया था। आईसीसी महिला चैंपियनशिप में 8 टीमें भाग लेती हैं, ढाई साल तक के अंतराल में अंक तालिका में मौजूद पहली चार टीमों को 2017 में होने वाले आईसीसी महिला विश्वकप में सीधा प्रवेश मिलेगा। वहीं अंक तालिका की निचली चार टीमों को 10 टीमों के साथ क्वालिफिकेशन राउंड खेलना होगा। ये भी पढ़ें: जब भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी रन आउट हुए

आईसीसी के प्रवक्ता ने कहा ‘पाकिस्तान की मेजबानी में दोनों टीमों को इस महीने के अंत तक सीरीज खेलनी होगी। अगर सीरीज नहीं होती है तो मामला आईसीसी की कमिटी के समक्ष रखा जाएगा।

बीसीसीआई के अधिकारी ने कहा कि सीरीज पर बोर्ड ने अभी तक कोई भी फैसला नहीं लिया है, और भारत सरकार से पूछकर ही हम कोई फैसला लेंगे। अधिकारी ने कहा ‘सीरीज पर भारत सरकार का ही अंतिम फैसला होगा, बीसीसीआई इस मामले में कुछ नहीं कहेगा, फैसला लेने के लिए हमारे पास अभी पर्याप्त समय है।’ ये भी पढ़ें: ग्यारहवीं के पेपर में पूछा गया कौन है विराट कोहली की गर्लफैंड

भारत और पाकिस्तान के बीच राजनीतिक उथल-पुथल के कारण भारत-पाकिस्तान के बीच क्रिकेट संबंधों पर असर पड़ा है। आखिरी बार मई 2014 में जब दोनों देशों के बीच बैठक हुई थी तो दोनों देशों के बीच 2015 से 2023 तक छह द्विपक्षीय सीरीज खेलने पर सहमति बनी थी। लेकिन दोनों देशों के बीच तल्खी को देखते हुए बीसीसीआई ने सीरीज पर फैसला भारत सरकार पर छोड़ दिया है।

इससे पहले दो बार ऐसे मौके आए हैं जब क्रिकेट के अलावा दूसरे कारणों के चलते टीमों ने दूसरे देश का दौरा या टीम को भेजने से इनकार कर दिया हो। पहली बार 1996 में विल्स विश्वकप के दौरान वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया ने अपनी टीमों को श्रीलंका भेजने से इनकार कर दिया था, क्योंकि श्रीलंका में उस दौरान घरेलू युद्ध छिड़ा हुआ था। वहीं 2003 विश्वकप में भी इंग्लैंड और न्यूजीलैंड ने डिम्बाब्वे और केन्या से खेलने से इनकार कर दिया था, क्योंकि वहां पर राजनितिक हालात ठीक नहीं थे।

आईसीसी महिला चैंपियनशिप में भारत फिलहाल 13 अंकों के साथ छठे नंबर पर है और अंतिम चार पर पहुंचने के लिए उसे पांच अंकों की जरूरत है। वहीं पाकिस्तान की टीम 8 अंकों के साथ सातवें नंबर पर मौजूद है। अगर सीरीज नहीं होने पर पाकिस्तान को छह अंक दे भी दिए जाते हैं तो दोनों में से कोई भी टीम विश्वकप के लिए सीधा प्रवेश नहीं कर पाएगी।