© AFP
© AFP

केपटाउन टेस्ट के पहले ही दिन टीम इंडिया ने ये दिखा दिया है कि आखिर वो क्यों दुनिया की नंबर 1 टीम है। पहले सेशन में द.अफ्रीका की बोलती बंद करने के बाद टीम इंडिया के गेंदबाजों ने दूसरे सेशन में भी द.अफ्रीकी बल्लेबाजों के होश उड़ा दिए। चाय तक टीम इंडिया के तेज गेंदबाजों ने द.अफ्रीका के 7 विकेट गिरा दिए और इस दौरान स्कोरबोर्ड पर 230 रन ही बने थे। टीम इंडिया के लिए भुवनेश्वर कुमार ने 4, और बुमराह, शमी, हार्दिक को 1-1 विकेट मिला था।

लंच के बाद डीविलियर्स-डुप्लेसी ढेर
लंच तक क्रीज पर डटे रहने वाले वाले अनुभवी खिलाड़ी ए बी डीविलियर्स और कप्तान डु प्लेसी ने आते ही अपनी शतकीय साझेदारी पूरी की, लेकिन इसके बाद 33वें ओवर में जसप्रीत बुमराह की जबर्दस्त गेंद ने ए बी डीविलियर्स को 65 रन पर बोल्ड कर दिया। ये बुमराह का टेस्ट में पहला विकेट था। इसके बाद हार्दिक पांड्या ने कप्तान डु प्लेसी को 62 रन पर साहा के हाथों कैच करवा दिया, नतीजा द.अफ्रीका की आधी टीम 150 रनों से पहले ही आउट हो गई। इसके बाद विकेटकीपर क्विंटन डी कॉक ने भारतीय गेंदबाजों पर काउंटर अटैक किया। दूसरे छोर पर फिलेंडर ने डी कॉक का अच्छा साथ दिया, दोनों के बीच 60 रनों की बेशकीमती साझेदारी हुई। हालांकि इस साझेदारी को भुवनेश्वर कुमार ने तोड़ दिया।

जसप्रीत बुमराह ने एबी डी विलियर्स को टेस्ट क्रिकेट का पहला शिकार बनाया
जसप्रीत बुमराह ने एबी डी विलियर्स को टेस्ट क्रिकेट का पहला शिकार बनाया

डी कॉक के आउट होने के बाद भी फिलेंडर ने तेज बल्लेबाजी करने की कोशिश की लेकिन मोहम्मद शमी ने 51वें ओवर में फिलेंडर को 23 रन पर बोल्ड कर द.अफ्रीका का 7वां विकेट गिराया। फिलहाल क्रीज पर केशव महाराज और कागिसो रबाडा मौजूद हैं। टीम इंडिया द.अफ्रीका को ऑल आउट करने से महज 3 कदम दूर है।