© AFP
© AFP

टेस्ट क्रिकेट में अकसर टीमें एक दूसरे पर पहली गेंद से ही दबाव बनाने की रणनीति बनाती हैं लेकिन दक्षिण अफ्रीका ने टीम इंडिया के खिलाफ कुछ अलग ही प्लान बनाया है। दक्षिण अफ्रीका के गेंदबाजों ने टेस्ट मैच के दिन के आखिरी सेशन में भारतीय बल्लेबाजों पर हमला करने की योजना बनाई है। दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज मॉर्ने मॉर्कल को लगता है कि भारत के खिलाफ 5जनवरी से शुरू हो रही 3 टेस्ट मैचों की सीरीज में उनके गेंदबाजों के लिये दिन का आखिरी सेशन सबसे अहम होगा।

मॉर्कल ने कहा, ‘‘ अंतिम सत्र में गेंद नरम होती है और हालात मुश्किल होते हैं। टेस्ट क्रिकेट में ज्यादातर रन चाय के बाद के सेशन में बनते हैं। इसलिये हमारे लिये आखिरी सेशन काफी अहम होगा। हमें देखना होगा की आखिरी सेशन में हमारे अंदर भारतीय बल्लेबाजों को आउट करने की ताकत होती है या नहीं।’’ आपको बता दें मॉर्ने मॉर्कल ने चोट के बाद दक्षिण अफ्रीकी टीम में वापसी की है। मॉर्कल ने जिम्बाब्वे के खिलाफ 4 दिवसीय टेस्ट में पहली पारी के दौरान 5 विकेट अपने नाम किए थे। मॉर्कल ने 5 सालों के लंबे वक्त के बाद ये कारनामा किया था।

वैसे ऐसा माना जा रहा है कि मैच में सबसे सफल गेंदबाज होने के बाद भी मॉर्केल भारत के खिलाफ मैच से बाहर बैठ सकते हैं, क्योंकि इस मैच में उनकी जगह डेल स्टेन टीम में वापसी करेंगे। अगर दक्षिण अफ्रीका तीन तेज गेंदबाजों और एक स्पिनर के साथ मैच में उतरता है तो मॉर्कल को बाहर बैठना पड़ सकता है। कागिसो रबाडा और वेर्नोन फिलेंडर की जगह टीम में लगभग पक्की है। इससे चयनकर्ताओं को स्टेन की स्विंग और मॉर्केल के उछाल में से किसी एक को चुनना होगा।

द.अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट में डेब्यू करेंगे जसप्रीत बुमराह?
द.अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट में डेब्यू करेंगे जसप्रीत बुमराह?

भारत के खिलाफ प्लेइंग इलेवन पर मॉर्कल ने कहा, ‘‘ हमें अभी ये तय करना होगा। स्टेन नेट पर शानदार गेंदबाजी कर रहे हैं। वो फिट हैं और मुझे लगता है कि पोर्ट एलिजाबेथ की पिच पर वो असरदार होंगे। उनके पास अभी एक हफ्ते का और समय है।’’ स्टेन ने नवंबर 2016 के बाद कोई टेस्ट मैच नहीं खेला है तो वहीं मोर्कल इस साल मार्च से एक मैच छोड़ कर सभी मैचों में टीम का हिस्सा रहे हैं। वो मांसपेशियों में खिंचाव के चलते बंगलादेश के खिलाफ अक्तूबर में एक टेस्ट मैच में नहीं खेल पाये थे। (पीटीआई के इनपुट के साथ)