India vs South Africa, 2nd Test: I was really enjoying my bowling, says Ravichandran Ashwin
रविचंद्रन अश्विन © AFP

भारत बनाम दक्षिण अफ्रीका दूसरे टेस्ट में 3 विकेट लेने वाले रविचंद्रन अश्विन अपने प्रदर्शन से काफी खुश हैं। पहले टेस्ट मैच में स्पिनरों को खास मदद नहीं मिली थी लेकिन सेंचुरियन में अच्छा टर्न देखने को मिला। मैच के बाद अपनी गेंदबाजी के बारे में बात करते हुए अश्विन ने कहा, “मैं ज्यादा सोच नहीं रहा था और केवल गेंदबाजी कर रहा था। मेरी कोशिश थी कि एक जगह पर गेंद डालूं। मैं क्रीज पर अलग अलग जगह से गेंद डालने की कोशिश कर रहा था, और मुझे इसमें काफी मजा आ रहा था।”

अंडर 19 विश्व कप: पृथ्वी शॉ-मनोज कालरा की शानदार पारियों की मदद से भारत ने ऑस्ट्रेलिया के सामने 329 रनों का लक्ष्य रखा
अंडर 19 विश्व कप: पृथ्वी शॉ-मनोज कालरा की शानदार पारियों की मदद से भारत ने ऑस्ट्रेलिया के सामने 329 रनों का लक्ष्य रखा

अश्विन ने आगे कहा, “मेरा मानना है कि इंग्लैंड में खेलने का मेरा अनुभव मेरा काम आया क्योंकि ये कुछ उस तरह का विकेट था जो आपको इंग्लैंड में देखने को मिलता है, खासकर न्यू रोड में जहां मैं खेलता था, वहां इसी तरह का विकेट था। एक गेंद अचानक से उछलती है और फिर लंबे समय तक कोई उछाल देखने को नहीं मिलता है। मेरे प्रथम श्रेणी के साथी खिलाड़ियों ने मुझे सलाह दी थी कि मुझे धैर्य रखना होगा और उनसे ये सब बाते सुनना मेरे लिए अच्छा रहा।”

पिच के बारे में बात करते हुए अश्विन ने कहा, “मैच से दो दिन पहले तक हमें भी लग रहा था कि हम सीम अटैक के साथ खेलेंगे और कल जब हम मैदान पर उतरे तो यो सफेद था, घास निकल चुकी थी। अचानक ही, मुझे खुद को बैक करना पड़ा और मुझे लगता है कि हम मैच में हैं।”

भारतीय स्पिन गेंदबाज ने आगे कहा, “आज सुबह जब हम मैदान पर आए तो ये फ्लैट विकेट लग रहा था और मैच में एक स्पिनर होना जरूरी लग रहा था। निजी तौर पर, मेरी ओर से मैं काफी खुश था कि घास निकल गई है। अगर ऐसा नहीं होता तो ये सीम अटैक ही होता। ऐसा ही होता है, मैंने कई बार ऐसा देखा कि कुछ लोग जिनका मैच में खेलना भी पक्का नहीं होता है, आते हैं और विकेट निकालते हैं। ये उन में से एक दिन था।”