© AFP
© AFP

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले दो टेस्ट में फ्लॉप होने वाले चेतेश्वर पुजारा जोहान्सबर्ग में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट में भी एक-एक रन के लिए जूझ रहे हैं। तीसरे टेस्ट में वॉन्डरर्स की हरी पिच पर टीम इंडिया ने पहले बल्लेबाजी की और उसने दो विकेट जल्द ही गंवा दिए। हालांकि इसके बाद चेतेश्वर पुजारा क्रीज पर आए और वो भी पिच पर परेशान दिखे। चेतेश्वर पुजारा को इतनी परेशानी हुई कि उन्हें खाता खोलने में 54 गेंदें लग गई। चेतेश्वर पुजारा ने 53 गेंद खेलने के बाद लुंगी एन्गिडी की गेंद पर एक रन लिया, जिसके बाद मैदान पर मौजूद दर्शकों और यहां तक कि टीम इंडिया के ड्रेसिंग रूम में भी तालियां बजी।

चेतेश्वर पुजारा का अनचाहा रिकॉर्ड

54 गेंदों में खाता खोलने के साथ ही चेतेश्वर पुजारा ने एक अनचाहा रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। पुजारा विदेशी धरती पर सबसे ज्यादा गेंद खेलकर खाता खोलने वाले भारतीय खिलाड़ी बन गए। वैसे सबसे ज्यादा गेंद खेलकर खाता खोलने का रिकॉर्ड इंग्लैंड के जे मर्रे के नाम है जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 1963 में सिडनी में 80 गेंद खेल खाता खोला था। सबसे ज्यादा गेंद खेल खाता खोलने का रिकॉर्ड राजेश चौहान के नाम है जिन्होंने 1994 में श्रीलंका के खिलाफ अहमदाबाद टेस्ट में 57 गेंद में खाता खोला था।

जोहान्सबर्ग टेस्ट- विराट कोहली ने फिर बदली प्लेइंग इलेवन, बना डाला वर्ल्ड रिकॉर्ड
जोहान्सबर्ग टेस्ट- विराट कोहली ने फिर बदली प्लेइंग इलेवन, बना डाला वर्ल्ड रिकॉर्ड

रवि शास्त्री के नाम भी है एक अनचाहा रिकॉर्ड

टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री भी जोहान्सबर्ग की इस पिच पर फंसे हैं। साल 1992-93 में रवि शास्त्री जब 9 रन पर बल्लेबाजी कर रहे थे तो उन्होंने अगले रन तक पहुंचने के लिए 68 डॉट गेंद खेली थी। जोहान्सबर्ग पिच की तेजी और उछाल अकसर बल्लेबाजों को परेशान करती है जो कि चेतेश्वर पुजारा के साथ भी हुआ।