India vs Sri Lanka, 1st ODI: MS Dhoni calls for DRS even before umpire signals Jasprit Bumrah out
महेंद्र सिंह धोनी © Getty Images

भारत बनाम श्रीलंका पहले वनडे में मेजबान टीम ने 7 विकेट से आसान जीत दर्ज की है। भारत की ओर से महेंद्र सिंह धोनी ने सर्वाधिक 65 रनों की पारी खेली, जिसकी बदौलत टीम 112 रन बना पाई थी। हालांकि ये लक्ष्य इतना बड़ा नहीं था जिसे 50 ओवरों के अंदर बचाया जा सके। इस मैच में टीम इंडिया के लिए कुछ भी सही नहीं हुआ, सिवाय धोनी के। उन्होंने दिखा दिया कि क्यों टीम इंडिया को उनकी जरूरत है। धोनी ने आज 87 गेंदो पर 65 रनों की संघर्षपूर्ण पारी खेली और इसी दौरान उनका एक और कमाल दर्शकों को देखने को मिला। डीआरस को अक्सर धोनी रिव्यू सिस्टम भी कहा जाता है और आज धोनी ने इसे साबित कर दिया।

मैच के दौरान 33वें ओवर में धोनी जसप्रीत बुमराह के साथ बल्लेबाजी कर रहे थे। ओवर की आखिरी गेंद पर गेंदबाज सचिथ पाथिराना ने बुमराह के एलबीडबल्यू की अपील की। अंपायर जब तक कोई फैसला कर पाते, धोनी ने झट से डीआरएस का इशारा कर दिया। सभी जानते हैं कि धोनी विकेट के पीछे हों या आगे खेल को वो सबसे ज्यादा अच्छी तरह समझते हैं। इस बार भी धोनी सही साबित हुए, गेंद आउट साइड पिच हो रही थी और तीसरे अंपायर ने नॉट आउट का इशारा किया। धोनी के इस कारनामे के बाद सोशल मीडिया पर भी हलचल बढ़ गई। ट्विटर पर लोगों ने लिखा कि जब धोनी मैच में खेल रहे हों तो आईसीसी को अंपायरों को नहीं रखना चाहिए।

साबरमती नदी में मिली जसप्रीत बुमराह के दादा की लाश
साबरमती नदी में मिली जसप्रीत बुमराह के दादा की लाश

धोनी ने इस मैच में अपने 16,000 अंतर्राष्ट्रीय रन भी पूरे किए। इस मैच में धोनी ने टीम के कुल स्कोर का 58.03 प्रतिशत बनाया है, जो कि किसी भी भारतीय बल्लेबाज द्वारा एक मैच में किया सर्वाधिक योगदान है, जब सभी 11 खिलाड़ियों ने बल्लेबाजी की हो। इससे पहले ये रिकॉर्ड वीरेंद्र सहवाग के नाम था, जिन्होंने 2003 में न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच में 112 रन बनाए थे जो टीम के कुल स्कोर (200/9) का 56 प्रतिशत था।