दिनेश चांडीमल © AFP
दिनेश चांडीमल © AFP

श्रीलंका की टीम भारत के साथ गुरुवार से शुरू हो रहे पहले टेस्ट मैच में पांच गेंदबाजों के साथ उतरेगी। मैच से पहले हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में श्रीलंकाई कप्तान दिनेश चांडीमल ने खुद इसका खुलासा किया। चांडीमल ने ये भी कहा कि पूर्व कप्तान एंजेलो मैथ्यूज भारत के खिलाफ नंबर 4 पर बल्लेबाजी करेंगे। चांडीमल ने कहा, “हम इसी तरह के संयोजन पर काम कर रहे हैं। भारत जैसी मजबूत टीम के सामने आपको जीतने के लिए विकेटों की जरूरत है और हमें 20 विकेटों की दरकार होती है। हमने इस बारे में अभी तक फैसला नहीं लिया है। हमें पहले विकेट देखने की जरूरत है। हम इस पर कल (गुरुवार) सुबह फैसला लेंगे कि कौन खेलेगा।”

श्रीलंका की टीम हाल ही में पाकिस्तान के खिलाफ खेली गई टेस्ट सीरीज में पांच गेंदबाजों के साथ उतरी थी। श्रीलंकाई टीम में ऑफ स्पिनर दिलरुवान परेरा, बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज रंगना हेराथ और चाइनामैन लक्षण संदाकन के साथ तेज गेंदबाज सुरंगा लकमल और नुवान प्रदीप मैदान में उतरे थे। दूसरे टेस्ट मैच में लाहिरू गमागे ने संदाकन की जगह ली थी। श्रीलंका हालांकि ईडन पर तीन स्पिन गेंदबाजों के साथ उतरे, ये मुश्किल है क्योंकि विकेट पर थोड़ी घास है।

चांडीमल ने एंजेलो मैथ्यूज के बारे में कहा, “वो नंबर-4 पर बल्लेबाजी करेंगे। उनके पास अनुभव है और हमें इसकी जरूरत है। हमारा मानना है कि अगर हम उन्हें टॉप ऑर्डर में भेजते हैं तो हम उनका ज्यादा फायदा ले सकते हैं।” चांडीमल ने कहा, “अगर वह (मैथ्यूज) गेंदबाजी करते हैं तो इससे उन्हें आत्मविश्वास मिलेगा। दुर्भाग्यवश चोट के कारण वह गेंदबाजी नहीं कर सकते, लेकिन उनके अनुभव को देखते हुए वो शानदार खिलाड़ी हैं। वो 2013-14 में शानदार क्रिकेट खेले थे। उनके रहने से हमारी बल्लेबाजी को मजबूत मिलती है।”

भारत-श्रीलंका, पहला टेस्ट, मैच प्रिव्यू- कोलकाता में जीत से आगाज करना चाहेगी 'विराट सेना'
भारत-श्रीलंका, पहला टेस्ट, मैच प्रिव्यू- कोलकाता में जीत से आगाज करना चाहेगी 'विराट सेना'

कप्तान ने कहा, “एक टीम के तौर पर हम काफी कुछ सीख रहे हैं और हमें इस सीरीज से सकारात्मक चीजें सीखनी हैं। पाकिस्तान के खिलाफ सीरीज जीतने के बाद हम एक अच्छी टीम बन गए हैं। खिलाड़ी अच्छी लय में हैं और हम इस सीरीज को लेकर तैयार हैं।” पांच गेंदबाजों के साथ खेलने के अलावा, चंडीमल ने कहा कि श्रीलंका ने भारत के खिलाफ अपने घर में खेली गई सीरीज के बाद अपनी फील्डिंग पर काफी मेहनत की है।