रवींद्र जडेजा © Getty Images
रवींद्र जडेजा © Getty Images

भारत बनाम श्रीलंका गॉल टेस्ट के तीसरे दिन भी टीम इंडिया का दबदबा कायम रहा। पहली पारी में 600 का बड़ा स्कोर बनाने के बाद टीम इंडिया ने गेंदबाजी में भी शानदार प्रदर्शन कर मेजबान टीम को 291 पर समेट दिया। भारत की ओर से स्पिनर रवींद्र जडेजा ने सर्वाधिक 3 विकेट लिए। तीसरे दिन एंजेलो मैथ्यूज 83 रन बनाकर आउट हो गए। श्रीलंका की ओर से दिलरुवन परेरा ने सबसे ज्यादा 92 रनों की नाबाद पारी खेली, टीम के ऑल आउट होने की वजह से वह अपना शतक पूरा नहीं कर सके।

दिन के खेल की शुरुआत हल्की बूंदा-बांदी के चलते देर से हुई। श्रीलंका के मैथ्यूज और परेरा ने पारी की शुरुआत की। 45 ओवर से शुरु हुए खेल में श्रीलंका टीम ने 58 ओवर तक कोई विकेट नहीं खोया। भारत को पहली सफलता 59वें ओवर में रवींद्र जडेजा ने दिलाई। उन्होंने शतक के करीब पहुंच रहे मैथ्यूज को कप्तान विराट कोहली के हाथों कैच आउट करवाया। इसके बाद रंगना हैराथ बल्लेबाजी करने आए, हैराथ केवल 9 रन बनाकर जडेजा का शिकार बनें। अगले बल्लेबाज नुवान कुलसेकरा भी 10 रन बनाकर हार्दिक पांड्या का शिकार बने। ये हार्दिक पांड्या के टेस्ट करियर का पहला विकेट था। [ये भी पढ़ें: भारत बनाम श्रीलंका, गॉल टेस्ट, तीसरा दिन (लाइव ब्लॉग): टीम इंडिया का पहला विकेट गिरा, धवन आउट]

एक छोर से विकेट गिरने के बाद भी परेरा लगातार चौके-छक्के लगाते रहे। हालांकि लंच के बाद 79वें ओवर की तीसरी गेंद पर लाहिरू कुमार के बोल्ड होते ही श्रीलंका की पारी समाप्त हो गई। दसवें नंबर के बल्लेबाज असेला गुणरत्ने चोटिल होने की वजह से बल्लेबाजी करने नहीं आ सके। भारत ने 309 रनों की बढ़त होने के बाद भी फॉलोऑन नहीं देने का फैसला किया।