© IANS
© IANS

कोलकाता की हरी भरी पिच पर भारतीय तेज गेंदबाजों ने खेल के चौथे दिन गजब की गेंदबाजी की और श्रीलंका को पहली पारी में 294 रनों पर ऑलआउट कर दिया। मैच के तीसरे दिन कोई विकेट न ले सके मोहम्मद शमी ने चौथे दिन गजब ढा दिया और आनन फानन में 4 विकेट झटक डाले। मोहम्मद शमी के अलावा भुवनेश्वर कुमार ने 4 और उमेश यादव ने 2 विकेट लिए। इस तरह से भारतीय तेज गेंदबाजों ने ही 10 के 10 विकेट झटके।

ये 34 साल के बाद के बाद देखने को मिला है जब टीम इंडिया के तेज गेंदबाजों ने अपने घर पर खेलते हुए सभी विकेट निकाले हों। भारतीय पिचों पर यह कम इसलिए भी देखने को मिलता है क्योंकि यहां की पिचें स्पिन के ज्यादा अनुकूल होती हैं। इसके पहले साल 1983-84 में अहमदाबाद टेस्ट में टीम इंडिया के तेज गेंदबाजों ने सभी विकेट झटके थे। वहीं उसके पहले साल 1981-82 में मुंबई टेस्ट में इंग्लैंड के खिलाफ भारतीय तेज गेंदबाजों ने सभी विकेट झटके थे।

टीम इंडिया को जनवरी में द. अफ्रीका का दौरा करना है इस लिहाज से भारतीय तेज गेंदबाजों का प्रदर्शन टीम इंडिया के लिए अच्छा संकेत है। पहली पारी में श्रीलंका की टीम ने 294 रन बनाए और पहली पारी के आधार पर 122 रनों की बढ़त हासिल कर ली। श्रीलंका की तरफ से सबसे ज्यादा रन रंगना हेरत (67) ने बनाए। हेरत के अलावा लहिरू थिरिमन्ने ने (51), एंजेलो मैथ्यूज ने (52) रनों की पारी खेली। भारत की तरफ से भारत की तरफ से भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी ने 4-4 और उमेश यादव ने 2 खिलाड़ियों को आउट किया।

चौथे दिन लंच तक श्रीलंका ने 8 विकेट खोकर 263 रन बना लिए थे। लंच के बाद खेलने उतरी श्रीलंका टीम के स्कोर को हेरत और लकमल ने आगे बढ़ाया। इसी बीच हेरत ने अपना अर्धशतक भी पूरा कर लिया। हालांकि भुवनेश्वर ने हेरत को आउट कर श्रीलंका को 9वां झटका दे दिया और फिर शमी ने लकमल को आउट कर श्रीलंका की पारी को 294 पर समेट दिया। तीसरे दिन तीसरे दिन 4 विकेट के नुकसान पर 165 रन से आगे खेलने उतरी श्रीलंका की टीम के स्कोर को डिकवेला और चांदीमल ने 200 के पार पहुंचा दिया। दोनों बल्लेबाजों ने भारतीय गेंदबाजों का डटकर सामना किया।

स्टीवन स्मिथ की राह पर चले दिलरुवान परेरा, ड्रेसिंग रूम की ओर देखकर लिया रिव्यू?
स्टीवन स्मिथ की राह पर चले दिलरुवान परेरा, ड्रेसिंग रूम की ओर देखकर लिया रिव्यू?

हालांकि इसी दौरान शमी ने डिकवेला (35) को आउट कर श्रीलंका को पांचवां झटका दे दिया। डेकवेला के आउट होते ही विकेट गिरने का सिलसिला शुरू हो गया और इसके बाद भारत ने दसुन शनाका (0), दिनेश चांदीमल (35) के विकेट झटक लिए। 7 विकेट गिर जाने के बाद हेरत और परेरा ने विकेट गिरने के सिलसिले को रोका और संभल कर खेलने लगे। इस दौरान हेरत ने कुछ बेहतरीन शॉट भी खेले। दोनों बल्लेबाजों ने टीम के स्कोर को लगातार आगे बढ़ाया। हालांकि परेरा (5) रन बनाकर शमी का शिकार बने। इसके बाद हेरत और लकमल ने स्कोर को 250 के पार पहुंचा दिया। टीम इंडिया की तरफ से अब तक भुवनेश्वर और शमी ने 3-3 और उमेश ने 2 विकेट लिए हैं।