अकिला दनंजया अपनी नई नवेली दुल्हन के साथ, फोटो साभार: Twitter
अकिला दनंजया अपनी नई नवेली दुल्हन के साथ, फोटो साभार: Twitter

पल्लेकेले वनडे में टीम इंडिया ने 231 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए एक वक्त 109 रन बिना किसी नुकसान के बना लिए थे। लेकिन इसी बीच एक अकेले गेंदबाज ने छह भारतीय बल्लेबाजों को आउट कर दिया और इस तरह से टीम इंडिया ने 22 रनों पर 7 विकेट गंवा दिए और स्कोर 131/7 हो गया। मैदान पर अब सिर्फ एक खिलाड़ी को लेकर चर्चा हो रही थी जो बल्लेबाजों के लिए खौंफ बन गया था। ये थे श्रीलंकाई स्पिन गेंदबाज अकिला दनंजया। दनंजया ने इस दौरान 6 विकेट ले डाले थे और टीम इंडिया को हार की कगार पर धकेल दिया था।

बल्लेबाजों को गेंदों को समझने में हो रही थी दिक्कत: दनंजया की गेंदें इतनी खतरनाक थीं कि बल्लेबाजों को यह समझने में दिक्कत हो रही कि आखिरी गेंद किस ओर टर्न होगी। इसी बात का उन्होंने फायदा उठाया और एक के बाद एक बल्लेबाज को आउट करते चले गए। दनंजया ने 10 ओवरों में 53 रन देकर 6 विकेट झटके और इस दौरान रोहित शर्मा, लोकेश राहुल, केदार जाधव, विराट कोहली, हार्दिक पांड्या और अक्षर पटेल को आउट किया।

उनकी शानदार गेंदबाजी को देखते हुए टीम इंडिया की जीत के बावजूद उन्हें मैन ऑफ द मैच से नवाजा गया। उल्लेखनीय है कि गुरुवार को मैच में उतरने से एक दिन पहले बुधवार को ही दनंजया की शादी हुई थी। उन्हें जब दूसरे वनडे में अंतिम एकादश में शामिल किए जाने की खबर मिली तो वह शादी करने के बाद फौरन टीम के साथ जुड़ गए और एक दिन बाद घातक गेंदबाजी करके स्टार बन गए। दनंजया ने नताली दक्षिणी से शादी की। जाहिर है कि उनके लिए लेडी लक काम कर गया। वैसे उनकी शानदार गेंदबाजी एमएस धोनी और भुवनेश्वर कुमार के आगे फीकी पड़ गई। दोनों ने आठवें विकेट के लिए नाबाद शतकीय साझेदारी करते हुए टीम इंडिया को जीत दिलवा दी। इस तरह से वह अपनी पत्नि को जीत का तोहफा देने से महरूम रह गए।

 

[ये भी पढ़ें: हर एक रन के बाद धोनी दे रहे थे भुवनेश्वर कुमार को समझाइस, ऐसे मैच जीता भारत]

मैच के एक दिन शादी करने के बाद टीम से जुड़े: मैच के बाद दनंजया ने कहा कि उन्होंने मुख्य रूप से पहले 8 ओवरों में अपनी विविधताओं पर ध्यान केंद्रित किया। उन्होंने कहा, “मेरी ऑफ स्पिन काम कर रही थी, इसलिए मैं पहले 8 ओवरों में लगातार अलग-अलग तरह की गेंदों को फेंकता रहा। कल (बुधवार) को मेरी शादी थी और मैं कैंडी में होटल में रात के करीब 10 बजे पहुंचा। लेकिन जब आप अपने देश के लिए खेलते हो, ये चीज मायने नहीं रखती। जो गिना जाता है वो ये है कि आप कैसा प्रदर्शन करते हो। इस तरह का प्रदर्शन करके मैं बहुत खुश हूं, लेकिन हम मैच नहीं जीत पाए इसको लेकर मैं बहुत निराश हूं।”