एम एस धोनी © Getty Images
एम एस धोनी © Getty Images, Design: Sandeep Dhyama

पल्लेकेले वनडे में श्रीलंका के खिलाफ एम एस धोनी ने विकेटकीपर के तौर पर एक बड़े रिकॉर्ड की बराबरी कर ली। धोनी ने पल्लेकेले वनडे में अपने करियर की 99 स्टंपिंग्स पूरी कर ली। एम एस धोनी ने इसके साथ ही श्रीलंका के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर कुमार संगाकारा की बराबरी कर ली। संगाकारा के नाम 404 मैचों में 99 स्टंपिंग्स थी जबकि धोनी ने ये कारनामा 298वें मैच में किया। इस तरह से स्टंपिंग्स के मामले में अब वो दुनिया के सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपर बन गए हैं।

धोनी की 99वीं स्टंपिंग

15वें ओवर में लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल की गेंद पर श्रीलंका के ओपनर गुनातिलका ने आगे बढ़कर शॉट मारने की कोशिश की। इस दौरान गेंद उनके बल्ले से निकल गई। विकेट के पीछे खड़े एम एस धोनी ने कोई गलती नहीं की और गुनातिलका को स्टंप आउट कर संगाकारा के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली। हालांकि स्टंपिंग के दौरान गेंद एक बार धोनी के ग्लव्ज़ से छिटकी लेकिन उन्होंने जल्दी से अपनी गलती सुधार ली। पल्लेकेले वनडे में उतरते ही विराट कोहली के 300 अंतर्राष्ट्रीय मैच पूरे

एम एस धोनी ने सबसे ज्यादा स्टंपिंग्स श्रीलंका के खिलाफ ही की हैं। श्रीलंका के खिलाफ धोनी के नाम 21 स्टंपिंग्स हैं, इंग्लैंड के खिलाफ 16 और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वो 12 स्टंपिंग्स कर चुके हैं। धोनी ने सबसे ज्यादा  ए बी डीविलियर्स और शाकिब अल हसन को 3-3 बार स्टंप आउट किया है। विकेटकीपर के तौर पर धोनी का कोई सानी नहीं है। धोनी बेहद ही तेजी से विकेट के पीछे स्टंप्स उड़ा देते हैं। साथ ही कई रन आउट में उनका बड़ा हाथ रहा है। धोनी ने अपने करियर में कई बार अजब-गजब अंदाज से विरोधी बल्लेबाजों को आउट किया है।