आर अश्विन © Getty Images
आर अश्विन © Getty Images

नागपुर टेस्ट में टीम इंडिया ने श्रीलंका के खिलाफ पारी और 239 रनों की रिकॉर्ड तोड़ जीत हासिल की और इस जीत में आर अश्विन का योगदान बेहद अहम रहा। उन्होंने दोनों पारियों में 4-4 विकेट झटक, मैच में कुल 8 विकेट झटके। इस मुकाबले में अश्विन ने ना सिर्फ गजब की गेंदबाजी की बल्कि उन्होंने सबसे तेजी से 300 टेस्ट विकेट लेने का कारनामा भी कर दिखाया। हालांकि वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने के बाद अश्विन ने जो बयान दिया उसने सभी का दिल जीत लिया। अश्विन ने मैच खत्म होने के बाद कहा, ‘मैं रिकॉर्ड बनाने से बेहद खुश हूं लेकिन हमारी तुलना दिग्गजों से नहीं की जा सकती, क्योंकि हमारे पास उनसे ज्यादा तकनीक है, हमारे पास वो फिटनेस प्रोग्राम है जो उस दौर में नहीं था ऐसे में तुलना करना सही नहीं होगा।’

आपको बता दें आर अश्विन ने सिर्फ 54 टेस्ट में 300 विकेट लेकर ऑस्ट्रेलिया के महान तेज गेंदबाज डेनिस लिली का रिकॉर्ड तोड़ा जिन्होंने ये कारनामा 56 टेस्ट में किया था। रिकॉर्ड तोड़ने के बावजूद अश्विन के पांव जमीं पर हैं और वो दिग्गजों से अपनी तुलना नहीं चाहते जो कि बहुत ही कम खिलाड़ियों में देखने को मिलता है।

टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेज 300 विकेट लेने वाले गेंदबाज बने आर अश्विन, बन गया अनोखा संयोग
टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेज 300 विकेट लेने वाले गेंदबाज बने आर अश्विन, बन गया अनोखा संयोग

कैरम गेंद पर मिला 300वां टेस्ट विकेट

आर अश्विन ने अपने टेस्ट करियर का 300वां विकेट कैरम बॉल पर झटका। आर अश्विन ने गमागे को बोल्ड कर अपना नाम रिकॉर्ड बुक में दर्ज कराया। अश्विन ने कहा कि 300वां टेस्ट विकेट लेने वाली गेंद से वो बेहद खुश हैं क्योंकि उन्होंने काफी समय बाद कैरम बॉल का इस्तेमाल किया है। अश्विन ने कहा, ‘पिछले दो सालों में मैंने ज्यादा कैरम बॉल्स का इस्तेमाल नहीं किया है। मैंने कैरम बॉल को अलग-अलग तरीके से फेंकने की प्रैक्टिस की।’