विराट कोहली नागपुर में जीत के बाद खुशी मनाते हुए (साभार- पीटीआई)
विराट कोहली नागपुर में जीत के बाद खुशी मनाते हुए (साभार- पीटीआई)

नागपुर टेस्ट में टीम इंडिया ने श्रीलंका को एक पारी और 239 रनों से मात देकर 3 टेस्ट मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली। टीम इंडिया ने अपनी धरती पर सबसे बड़ी टेस्ट जीत हासिल की लेकिन इसके बावजूद भी विराट कोहली खुश नहीं है। दरअसल विराट कोहली का लक्ष्य द.अफ्रीका दौरे पर अच्छा प्रदर्शन कर सीरीज जीतना है। विराट कोहली ने नागपुर टेस्ट जीतने के बाद कहा, ‘हम ये सोचना चाहते हैं कि हम द.अफ्रीका दौरे के लिए तैयारी कर रहे हैं। इसीलिए हमने तेज पिच की मांग की है, जिस पर गेंद उछाल ले और तेज गेंदबाजों को खूब मदद मिले। हम द.अफ्रीका दौरे के लिए तैयारी चाहते हैं वो बड़ा दौरा है और हर खिलाड़ी की नजर उसी दौरे पर है।’

नागपुर की पिच से निराश विराट कोहली

नागपुर में जीत हासिल करने के बाद विराट कोहली ने इशारों ही इशारों में जामथा मैदान की पिच पर सवाल खड़े किए। विराट कोहली ने कहा कि टीम इंडिया कोलकाता जैसी विकेट पर मैच खेलना चाहती है लेकिन नागपुर की पिच दूसरे ही दिन से टूटने लगी। विराट के मुताबिक टीम इंडिया को अगर द.अफ्रीका दौरे पर अच्छा प्रदर्शन करना है तो जीवंत पिच पर मैच खेलने होंगे। विराट कोहली ने आगे कहा, ‘पिच बल्लेबाजी के लिए अच्छी थी। पिच धीमी थी और उस पर गेंदबाजों के लिए कुछ खास नहीं था। मैं अच्छा खेलना चाहता था। स्कोरबोर्ड को बढ़ाते रहना हमारा लक्ष्य था।’

दोहरे शतक से बेहद खुश विराट

विराट कोहली ने नागपुर टेस्ट में दोहरा शतक लगाया। उन्होंने पहली पारी में 213 रन बनाए जिसके लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच भी चुना गया। अपनी पारी पर विराट ने कहा, ‘ये ऐसी चीज है जिसे मैं और बेहतर करना चाहता हूं। मैं शतक को दोहरे शतक में तब्दील करने की कोशिश करता हूं। अगर आप शतक लगाने के बाद अपना ध्यान गंवा दें तो टीम के 2 विकेट जल्दी-जल्दी गिर जाते हैं। शतक लगाने के बाद टिके रहना बेहद जरूरी है इससे टीम को फायदा पहुंचता है।’

टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेज 300 विकेट लेने वाले गेंदबाज बने आर अश्विन, बन गया अनोखा संयोग
टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेज 300 विकेट लेने वाले गेंदबाज बने आर अश्विन, बन गया अनोखा संयोग

मुरली विजय, ईशांत शर्मा की तारीफ

विराट कोहली ने नागपुर टेस्ट में शतक जड़ने वाले मुरली विजय की तारीफ की। विराट कोहली ने कहा, ‘मैं जानता हूं कि मुरली विजय को टीम से बाहर रहकर कितना दर्द हो रहा होगा। उनकी तकनीक शानदार है और वो जबर्दस्त टेस्ट खिलाड़ी हैं। चेतेश्वर पुजारा भी लगातार रन बना रहे हैं। ईशांत शर्मा ने भी अच्छी वापसी की। हमारे गेंदबाज अच्छी लय में दिखाई दे रहे हैं।’