धनंजय डी सिल्वा © AFP
धनंजय डी सिल्वा © AFP

भारत और श्रीलंका के बीच खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच में श्रीलंका के बल्लेबाज धनंजय डी सिल्वा ने शानदार शतक जड़ा। धनंजय के करियर का ये तीसरा और भारत के खिलाफ पहला शतक है। धनंजय ने न सिर्फ बेहतरीन शतक लगाया बल्कि अपनी टीम के संकटमोचक भी बने। धनंजय ने 188 गेंदों में शतक लगाया। धनंजय के बल्ले से 13 चौके और एक छक्का निकला। धनंजय जब 70 रनों के स्कोर पर थे तो जडेजा ने उन्हें क्लीन बोल्ड कर दिया था। हालांकि जडेजा की उस गेंद को नो बॉल करार दे दिया गया था।

धनंजय भारत में चौथी पारी में शतक लगाने वाले तीसरे विदेशी खिलाड़ी बन गए हैं। इसके अलावा भारत में टेस्ट मैच की चौथी पारी में किसी भी विदेशी खिलाड़ी का ये शतक 10 साल के बाद आया है। धनंजय के सामने भारतीय गेंदबाज मामूली नजर आ रहे थे और धनंजय ने हर गेंदबाज का डटकर सामना किया। धनंजय ने मुश्किल हालात में शानदार बल्लेबाजी की और करियर का तीसरा शतक लगाया। धनंजय के शतक के साथ ही तीसरे टेस्ट मैच में श्रीलंका की तरफ से कुल 3 शतक लगे। इससे पहले पहली पारी में एंजेलो मैथ्यूज और दिनेश चांदीमल ने भी शतक लगाए थे। हालांकि तीसरे टेस्ट मैच में अभी भी श्रीलंका की टीम मैच बचाने के लिए संघर्ष कर रही है। मैच के पांचवें दिन श्रीलंका के 5 विकेट गिर चुके हैं और टीम पर हार का खतरा मंडरा रहा है।

इस तारीख को भारत के लिए रवाना होगी श्रीलंका टीम, मिल गई खेल मंत्री की मंजूरी
इस तारीख को भारत के लिए रवाना होगी श्रीलंका टीम, मिल गई खेल मंत्री की मंजूरी

चौथे दिन 31/3 से आगे खेलने उतरी श्रीलंका टीम को चौथे दिन शुरुआती झटका लगा और जडेजा ने मैथ्यूज को सस्ते में आउट कर भारत को चौथी सफलता दिला दी। हालांकि इसके बाद धनंयज ने कप्तान चांदीमल के साथ मिलकर पारी को संभाला और स्कोर को 100 के पार पहुंचा दिया। इसी बीच धनंजय ने अपना अर्धशतक भी पूरा किया। इससे पहले टीम इंडिया ने दूसरी पारी में 246 रन बनाकर अपनी पारी घोषित की और श्रीलंका को 410 रनों का विशाल लक्ष्य दिया।