दिनेश चांदीमल © Getty Images
दिनेश चांदीमल © Getty Images

श्रीलंका के कप्तान दिनेश चांदीमल ने भारत के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच में अपने करियर की सबसे बड़ी पारी खेली। चांदीमल ने चौथे दिन आउट होने से पहले 164 रन बनाए और ये उनके टेस्ट करियर का सबसे बड़ा स्कोर है। इससे पहले चांदीमल का बेस्ट भारत के ही खिलाफ 162* रन था, जो उन्होंने 12 अगस्त, 2015 को गॉल में बनाया था। अब चांदीमल ने उस रिकॉर्ड को तोड़कर भारत के ही खिलाफ अपने करियर का बेस्य स्कोर बना डाला। चांदीमल ने 361 गेंदों में 164 रनों की पारी खली।

चांदीमल के करियर का ये कुल 10वां शतक है और भारत के खिलाफ ये उनका दूसरा शतक है। चांदीमल ने भारत के खिलाफ इससे पहले 12 अगस्त, 2015 को कोलंबो में शतक लगाया था और इसके बाद से ही वो भारत के खिलाफ शतक नहीं लगा सके थे। वहीं मौजूदा साल की बात करें तो इस साल चांदीमल के बल्ले से निकलने वाला ये कुल तीसरा शतक है। साल 2017 में अब तक चांदीमल ने (138, 155* और 100*) रनों की पारी खेली है। चांदीमल के नाम अब श्रीलंका की तरफ से टेस्ट क्रिकेट में सबसे जल्दी 10 शतक लगाने का रिकॉर्ड दर्ज हो गया है। चांदीमल ने सिर्फ 80 पारियों में 10 शतक लगाए हैं जो कि श्रीलंका की तरफ से सबसे तेज हैं। चांदीमल ने समरवीरा के रिकॉर्ड को तोड़ा। समरवीरा ने 84 पारियों में 10 शतक लगाए थे।

एशेज सीरीज: स्टुअर्ट ब्रॉड की बाउंसर ने तोड़ा नाथन लायन का हेलमेट, दिया करारा जवाब
एशेज सीरीज: स्टुअर्ट ब्रॉड की बाउंसर ने तोड़ा नाथन लायन का हेलमेट, दिया करारा जवाब

चांदीमल के अलावा एंजेलो मैथ्यूज ने भी शानदार बल्लेबाजी की और करियर का आठवां शतक लगाया। मैथ्यूज के शतक की खास बात ये रही कि उनके बल्ले से ये शतक 2 साल से भी ज्यादा समय के बाद आया। मैथ्यूज के बल्ले से आखिरी बार कोई भी शतक 28 अगस्त, 2015 को भारत के खिलाफ ही निकला था। मैथ्यूज ने 36 पारियों के बाद कोई शतक लगाया। हालांकि मैथ्यूज खुशकिस्मत रहे और 98 रनों पर रोहित शर्मा ने उनका आसान कैच टपका दिया।