© IANS
© IANS

श्रीलंका के खिलाफ मौजूदा टेस्ट सीरीज में टीम इंडिया पहले से ही 1-0 की अजेय बढ़त हासिल कर चुकी है। अब इंतजार है तो दिल्ली में खेले जाने वाले टेस्ट का। इस टेस्ट में टीम इंडिया जीत हर हाल में हासिल करने की कोशिश करेगी ताकि सीरीज अपने नाम करते हुए कई ऐतिहासिक रिकॉर्ड भी अपने नाम कर डाले। ये रिकॉर्ड विराट कोहली के लिए कप्तान के तौर पर ऐतिहासिक तो होंगे ही बल्कि टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में टीम इंडिया के रुतबे को भी बढ़ाने में अहम भूमिका निभाएंगे। जिस तरह का खेल अबतक टीम इंडिया ने सीरीज में दिखाया है उसे देखते हुए शायद ही उसे इस जीत को हसिल करने में ज्यादा मशक्कत करनी पड़े। जैसा कि दिल्ली टेस्ट 2 दिसंबर से शुरू हो रहा है। ऐसे में ये जान लेते हैं कि कौन-कौन से रिकॉर्ड बन सकते हैं।

– अगर टीम इंडिया दिल्ली के फिरोजशाह कोटला में खेला जाने वाला टेस्ट ड्रॉ भी करा देती है तो वे सीरीज 1-0 से अपने नाम कर लेंगे। इस तरह वे लगातार 9 सीरीज जीतने के इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के रिकॉर्ड की बराबरी कर लेंगे। इंग्लैंड ने यह कारनामा 1884 से 1891-92 के बीच किया था वहीं ऑस्ट्रेलिया ने साल 2006 से 2008 के बीच यह कारनामा किया था।

– श्रीलंका ने भारतीय सरजमीं पर खेले गए पिछले 19 टेस्ट मैचों में एक भी जीत हासिल नहीं की है। वे 11 हारे हैं और 8 ड्रॉ रहे हैं। अगर वे दिल्ली टेस्ट में भी जीत हासिल नहीं कर पाते तो एक देश में लगातार 20 टेस्ट मैचों में कोई भी जीत न हासिल करने वाली वे दुनिया की पहली टीम होगी। श्रीलंका ने फिरोजशाह कोटला में अबतक 1 टेस्ट खेला है। ये उन्होंने साल 2005-06 में खेला था। इस टेस्ट को टीम इंडिया ने 188 रनों से जीता था।

– टीम इंडिया ने फिरोजशाह कोटला में 13 जीत दर्ज की हैं। जो उनके द्वारा किसी भी वेन्यू पर हासिल की गईं दूसरी सबसे ज्यादा जीत हैं। इसके अलावा वे चेन्नई के एमए चिदंबरम स्टेडियम चेपॉक में 14 टेस्ट जीत चुके हैं। अगर टीम इंडिया इस टेस्ट में भी जीत हासिल कर लेती है तो वे कोटला में जीत की बराबरी एमए चिदंबरम से कर लेंगे।