भारतीय टीम © IANS
भारतीय टीम © IANS

भारत और श्रीलंका के बीच खेली जा रही टेस्ट सीरीज के चौथे टेस्ट मैच में एक ऐसा रिकॉर्ड बना जो कि टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में अब तक सिर्फ पांच बार ही बना था। इस मैच में पहले भारत के कप्तान विराट कोहली ने दोहरा शतक लगाया और फिर श्रीलंका के कप्तान दिनेश चांदीमल ने 164 रनों की पारी खेली। इसके साथ ही टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में ये सिर्फ छठा मौका है जब दोनों टीमों के कप्तानों ने 150 से ज्यादा रनों की पारी खेली। कोहली औक चांदीमल दोनों ने अपनी-अपनी टीमों के लिए उपयोगी पारियां खेलीं।

कोहली ने बनाए 243 रन: श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच के बाद कोहली ने तीसरे मैच में फिर से दोहरा शतक लगाकर इतिहास रच दिया। कोहली के टेस्ट करियर का ये छठा दोहरा शतक है और लगातार दूसरा भी। साथ ही श्रीलंका के खिलाफ भी कोहली का ये दूसरा दोहरा शतक है। कोहली के नाम अब बतौर कप्तान सबसे ज्यादा दोहरे शतक लगाने का विश्व रिकॉर्ड दर्ज हो गया है। इससे पहले दूसरे टेस्ट में दोहरा शतक लगाकर कोहली ने ब्रायन लारा के (5) दोहरे शतक के रिकॉर्ड की बराबरी की थी। लेकिन तीसरे टेस्ट मैच में कोहली ने लारा को पीछे छोड़कर विश्व रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया।

दिनेश चांदीमल ने बनाए 164 रन: श्रीलंका के कप्तान दिनेश चांदीमल ने भारत के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच में अपने करियर की सबसे बड़ी पारी खेली। चांदीमल ने चौथे दिन आउट होने से पहले 164 रन बनाए और ये उनके टेस्ट करियर का सबसे बड़ा स्कोर है। इससे पहले चांदीमल का बेस्ट भारत के ही खिलाफ 162* रन था, जो उन्होंने 12 अगस्त, 2015 को गॉल में बनाया था। अब चांदीमल ने उस रिकॉर्ड को तोड़कर भारत के ही खिलाफ अपने करियर का बेस्य स्कोर बना डाला। चांदीमल ने 361 गेंदों में 164 रनों की पारी खेली।

इस तरह दोनों टीमों के कप्तानों ने 150 से ज्यादा रनों की पारी खेलकर इतिहास रच दिया और टेस्ट क्रिकेट इतिहास में छठी बार इस कारनामे को अंजाम दिया।