विराट कोहली © AFP
विराट कोहली © AFP

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली जब भी मैदान पर उतरते हैं तो उनके बल्ले से रनों का अंबार तो निकलता ही है साथ में वो कई रिकॉर्ड भी तोड़ डालते हैं। श्रीलंका के खिलाफ कोटला टेस्ट में भी कुछ ऐसा ही हुआ। विराट कोहली ने दिल्ली में पहली पारी में 243 और दूसरी पारी में 50 रन बनाए। इस तरह उन्होंने पूरे टेस्ट मैच में कुल 293 रन बनाए जो कि भारत की ओर से रिकॉर्ड है। विराट कोहली ने एक टेस्ट मैच में कप्तान के तौर पर सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है। इससे पहले भारत की ओर से ये रिकॉर्ड सुनील गावस्कर के नाम था जिन्होंने 1978 में वेस्टइंडीज के खिलाफ कोलकाता टेस्ट की दोनों पारियों में कुल 289 रन बनाए थे।

3 टेस्ट सीरीज में 600 रन

विराट कोहली 3 अलग-अलग टेस्ट सीरीज में 600 से ज्यादा रन बनाने वाले इकलौते भारतीय खिलाड़ी हैं। विराट कोहली ने 2014-15 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 692, इंग्लैंड के खिलाफ 2016-17 में 655 रन और अब श्रीलंका के खिलाफ उन्होंने कुल 610 रन बना डाले। विराट कोहली के अलावा राहुल द्रविड़ और सुनील गावस्कर ने अपने टेस्ट करियर में 2 टेस्ट सीरीज में 600 से ज्यादा रन बनाए हैं। वर्ल्ड लेवल की बात करें तो डॉन ब्रैडमैन ने सबसे ज्यादा 6 टेस्ट सीरीज में 600 से ज्यादा रन बनाए हैं। विराट कोहली ने सोबर्स, लारा की बराबरी की है।

कोटला टेस्ट में मुरली विजय को सांस लेने में दिक्कत, विराट कोहली से की शिकायत
कोटला टेस्ट में मुरली विजय को सांस लेने में दिक्कत, विराट कोहली से की शिकायत

विराट ने 2017 में 2818 रन बनाए

कोटला टेस्ट विराट कोहली का इस साल का आखिरी मैच था। अब वो अपना अगला मैच द.अफ्रीका दौरे पर 5 जनवरी को खेलेंगे। इस साल विराट कोहली ने 68.73 के औसत से 2818 अंतर्राष्ट्रीय रन बनाए, जिसमें 11 शतक शामिल हैं। विराट ने टेस्ट में 1059, वनडे में 1460 और टी20 में 299 रन बनाए। एक साल में सबसे ज्यादा अंतर्राष्ट्रीय रन बनाने के मामले में विराट कोहली सिर्फ रिकी पॉन्टिंग(2833) और संगाकारा (2868) से पीछे रहे।