एंजलो मैथ्यूज © Getty Images
एंजलो मैथ्यूज © Getty Images

पूर्व श्रीलंकाई कप्तान एंजेलो मैथ्यूज ने कहा कि खिलाड़ियों की चोट ने उनकी टीम को पूरी तरह से झकझोर कर रख दिया है इसलिए उनकी टीम भारत के खिलाफ लगातार जूझती नजर आई। उन्होंने कहा, “जब मैदान में आपके पास बेस्ट प्लेइंग इलेवन नहीं होती तो ये आपको बुरी तरह से प्रभावित करता है। जो चोटिल हुए हैं वे जाहिरतौर पर बेहतरीन खिलाड़ी हैं और ऐसी परिस्थिति में हमें उनकी कमी महसूस हो रही है।

श्रीलंका ने चैंपियंस ट्रॉफी में भारत के खिलाफ 322 रनों के स्कोर को चेज करते हुए जीत हासिल की थी लेकिन मौजूदा टीम अपनी पूर्व टीम जितनी मजबूत नजर नहीं आ रही है। मैथ्यूज ने आगे कहा, “जिम्बाब्वे सीरीज हारना एक कड़वी दवा खाने जैसा था। हमने तबसे अपनी लय खो दी। जब हम लय में वापस आएंगे हर कुछ सही हो जाएगा।” टीम इंडिया ने इस दौरे में अबतक कोई मैच नहीं हारा है और अबतक अजेय नजर आए हैं।

मैथ्यूज ने कहा, “यह टीम की लय को लेकर है। हमें जरूरत है कि हम एक मैच जीतें और जब वो होगा मुझे विश्वास है कि हम चीजें बदल देंगे। इसके चलते हम चीजों को सुधार पाएंगे। हमे जरूरत है तो वह एक मैच जीतते हुए विश्वास प्राप्त करने की। इस तरह से लगातार हारना वास्तव में बड़ा कठिन है। पूरी टीम निराश है। जिस अंदाज में हम हारे वह निराशाजनक है। हम साफतौर पर चुनौती नहीं दे पाए। हम पहले भी हारे हैं लेकिन हमने तब चुनौती दी थी।”

मैथ्यूज ने अपने प्रदर्शन के बारे में बातचीत करते हुए कहा कि वह जिस तरह से पिछले कुछ मैचों में आउट हुए हैं वह निराशाजनक है। मैथ्यूज ने कहा, “व्यक्तिगत तौर पर पिछले कुछ मैचों में जिस तरह से मैं अच्छी शुरुआत करने के बाद आउट हुआ हूं उससे मुझे बहुत निराशा हुई है। मैं अपने गेम से बहुत निराश हूं, सिर्फ अंतिम मैच में ही मैं थोड़ा बहुत प्रभाव छोड़ पाया।”  [ये भी पढ़ें: काउंटी चैंपियनशिप में रविचंद्रन अश्विन का जलवा, ले डाले 8 विकेट]

जैसा कि आईसीसी वर्ल्ड कप के लिए श्रीलंका के हाथों से डायरेक्ट क्वालीफिकेशन की उम्मीदें निकल चुकी हैं। ऐसे में मैथ्यूज ने कहा कि उनकी टीम के लिए क्वालीफिकेशन सबसे बड़ी चिंता की बात है। उन्होंने कहा, “यह चिंता की बात है, इसमें कोई शंका नहीं है। वेस्टइंडीज के हाथों सबकुछ छोड़ने के बजाय हम अगलै मैच जीतना चाहेंगे। जो भी हम नियंत्रित कर सकते हैं, हम नियंत्रित करेंगे। मैं ये जरूर कहूंगा कि टीम इंडिया ने बेहतरीन खेल दिखाया है। हम सीनियरों को अपना गेम और अच्छा करना होगा क्योंकि हमने उम्मीदों के अनुरूप अबतक प्रदर्शन नहीं किया है।”