India vs Sri Lanka: Pressure on Shikhar Dhawan in the opener race with KL Rahul increased
शिखर धवन (IANS)

श्रीलंका के खिलाफ पहला टी20 मैच बारिश की भेंट चढ़ने के बाद शिखर धवन को सलामी बल्लेबाज की दौड़ में केएल राहुल को पछाड़ने के लिए एक मैच कम मिलेगा। मंगलवार को इंदौर में श्रीलंका के खिलाफ होने वाले भारत के दूसरे टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में वो फार्म में चल रहे अपने इस साथी से बेहतर प्रदर्शन करने के इरादे से उतरेंगे।

सीमित ओवरों के क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन करने वाले धवन 34 साल के हो गए हैं जबकि राहुल अभी सिर्फ 27 के हैं जिससे इस साल होने वाले टी20 विश्व कप में अपनी जगह पक्की करने के लिए दिल्ली के धवन के पास अधिक समय नहीं है।

बाएं हाथ के बल्लेबाज धवन का स्ट्राइक रेट पिछले कुछ समय में सीमित ओवरों के क्रिकेट में चिंता का विषय रहा है और श्रीलंका के खिलाफ बाकी बचे दोनों मैचों में उन्हें इसमें सुधार करना होगा। धवन 2019 में चोटों से काफी परेशान रहे और एक बार फिर वापसी करते हुए उनकी राह चुनौतीपूर्ण होगी।

श्रीलंका के खिलाफ रन बनाना कोई मायने नहीं रखते, केएल राहुल के आगे शिखर धवन कुछ नहीं : श्रीकांत

पिछले साल धवन ने 12 मैचों में 110 के स्ट्राइक रेट से 272 रन बनाए। दूसरी तरफ राहुल ने मौकों का पूरा फायदा उठाया और वेस्टइंडीज के खिलाफ सीमित ओवरों की पिछली सीरीज (तीन टी20 अंतरराष्ट्रीय और तीन वनडे) की छह पारियों में एक शतक और तीन अर्धशतक जड़े।

कप्तान विराट कोहली भी कह चुके हैं कि श्रीलंका के खिलाफ सीरीज से आराम मिलने के बाद रोहित शर्मा जब पारी का आगाज करने के लिए वापसी करेंगे तो धवन और राहुल के बीच से किसी एक का चयन करना आसान नहीं होगा।

गुवाहाटी में पहले मैच में एक भी गेंद नहीं फेंके जाने के बाद कोहली के शुरुआती टी20 मैच की प्लेइंग इलेवन में बदलाव की संभावना नहीं है जिसके लिए उन्होंने तीन विशेषज्ञ तेज गेंदबाजों और दो स्पिनरों को चुना था।

सिडनी टेस्ट के दौरान वार्नर-लाबुशाने की गलती से ऑस्ट्रेलिया पर लगा 5 रन का जुर्माना

वाशिंगटन सुंदर और कुलदीप यादव को टीम में जगह मिली थी जबकि युजवेंद्र चहल और रविंद्र जडेजा प्लेइंग इलेवन में जगह बनाने में नाकाम रहे थे। श्रीलंका की टीम में बाएं हाथ के बल्लेबाजों की अधिक संख्या को देखते हुए ये फैसला किया गया था। मनीष पांडे और संजू सैमसन को पहले मैच की प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं मिली थी और इन दोनों के एक बार फिर बाहर बैठने की उम्मीद है।

अक्टूबर-नवंबर में होने वाले टी20 विश्व कप से पूर्व भारतीय टीम खिलाड़ियों के साथ प्रयोग कर रही है लेकिन टीम मैनेजमेंट ने अब तक पांडे और सैमसन को मौका नहीं दिया है।

चोट के कारण चार महीने बाद स्टार तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की वापसी का सभी को बेसब्री से इंतजार था लेकिन बारिश और फिर मैदान गीला होने के कारण गुवाहाटी में मैच नहीं हो सका। मंगलवार को बुमराह को इंदौर में मौका मिलना लगभग तय है जहां साफ मौसम की भविष्यवाणी की गई है।

शेन वार्न ने ऑनलाइन नीलामी पर लगाई Test Cap, पहले दो घंटे में ही लगी हैरान कर देने वाली बोली

होलकर स्टेडियम में अब तक सिर्फ एक टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेला गया है और तब भी भारत ने श्रीलंका की मेजबानी की थी। दिसंबर 2017 में बड़े स्कोर वाले इस मैच में रोहित ने 43 गेंद में 118 जबकि राहुल ने 49 गेंद में 89 रन बनाए थे जिससे भारत ने 20 ओवर में पांच विकेट पर 260 रन का स्कोर खड़ा किया और फिर 88 रन से मैच जीता।

कप्तान लसिथ मलिंगा के साथ टीम के सबसे अनुभवी खिलाड़ियों में से एक ऑलराउंडर एंजेलो मैथ्यूज को गुवाहाटी में प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं मिली थी क्योंकि मेहमान टीम ने भी तीन विशेषज्ञ तेज गेंदबाजों और दो स्पिनरों के साथ उतरने का फैसला किया था। अब ये देखना होगा कि मंगलवार को मैथ्यूज को मौका मिलता है या नहीं।

भारत के खिलाफ 10 साल से अधिक समय से किसी भी फॉर्मेट में द्विपक्षीय सीरीज जीतने में नाकाम रहे श्रीलंका को मेजबान टीम को हारने के लिए विशेष प्रदर्शन करना होगा।