हार्दिक पांड्या © AFP
हार्दिक पांड्या © AFP

श्रीलंका के खिलाफ पहले 2 टेस्ट मैचों के लिए हार्दिक पांड्या को टीम में नहीं चुना गया और उन्हें आराम दिया गया है। भारतीय टीम के पूर्व खिलाड़ी आकाश चोपड़ा ने सेलेक्टर्स के इस फैसले को सही ठहराया है और उन्होंने माना की पांड्या को वाकई आराम की जरूरत थी। ईएसपीएन क्रिकइंफो से बातचीत में चौपड़ा ने कहा, ‘अगर आप देखें तो पांड्या लगातार क्रिकेट खेल रहे हैं। चैंपियंस ट्रॉफी के बाद से वो तीनों फॉर्मेट में टीम इंडिया का हिस्सा रहे हैं। ऐसे में श्रीलंका के खिलाफ पहले 2 टेस्ट में उन्हें आराम दिया जाना बिलकुल सही फैसला है।’

चोपड़ा ने आगे कहा, ‘पिछले 6-8 से महीनों से पांड्या भारत की तरफ से हर मैच खेल रहे हैं। वेस्टइंडीज, श्रीलंका, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड जैसी टीमों के खिलाफ हर मैच में खेलना बेहद मुश्किल होता है और ऐसे में वो आराम के हकदार थे।’ चोपड़ा ने ये भी माना कि आराम के बाद पांड्या वनडे और टी20 सीरीज में शानदार वापसी करेंगे और फिर वो विदेशी दौरों पर भी अपना कमाल दिखाएंगे। साल 2017 की बात करें तो पांड्या इस साल भारत के लिए तीनों फॉर्मेट खेले हैं। पांड्या ने अपना टेस्ट डेब्यू भी इसी साल किया है।

बड़ौदा के खिलाफ दोनों पारियों में खामोश रहा टीम इंडिया के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे का बल्ला
बड़ौदा के खिलाफ दोनों पारियों में खामोश रहा टीम इंडिया के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे का बल्ला

साल 2017 में पांड्या ने 3 टेस्ट मैचों में 59.33 के औसत से 178 रन बनाए हैं। इस दौरान उन्होंने 1 शतक, 1 अर्धशतक लगाया है। साल 2017 में पांड्या ने 14 वनडे मैच खेले हैं और इस दौरान उन्होंने 24.66 के औसत से 148 रन बनाए हैं। पांड्या के बल्ले से 1 अर्धशतक भी निकला है। इस साल 8 टी20 में पांड्या ने 62 रन बनाए हैं। साफ है साल 2017 में पांड्या भारत की तरफ से हर फॉर्मेट में लगातार खेले हैं और ऐसे में सेलेक्टर्स ने उन्हें आराम देकर सही फैसला किया है।