उपुल थरंगा  © Getty Images
उपुल थरंगा © Getty Images

श्रीलंका टीम की दिक्कतें खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं। उन्हें पल्लेकेले वनडे में भारत के हाथों 3 विकेट से हार का सामना करना पड़ा। इसके साथ ही साथ श्रीलंका के कप्तान उपुल थरंगा पर दो मैचों का प्रतिबंध (बैन) लगा दिया गया है। उनपर यह बैन स्लो ओवर रेट के कारण लगा है। बचे तीन वनडे मैचों में चामरा कपुगेदरा श्रीलंका टीम की कप्तानी करेंगे।  श्रीलंका टीम ने इसी बीच दिनेश चंडीमल को वापस बुलाया है। इसके अलावा लाहिरु थिरिमाने की भी टीम में वापसी हुई। टीम इंडिया सीरीज में 2-0 से बढ़त बनाए हुए है। चंडीमल टेस्ट में श्रीलंकाई टीम के नियमित कप्तान हैं। टीम में लाहिरु थिरिमारे की वापसी दनुष्का गुणाथिलाका की जगह हुई है। गुणाथिलाका चोटिल हो गए हैं।

दूसरे वनडे में भारत ने की जीत दर्ज: इसके पहले श्रीलंका ने 50 ओवरों में 236/8 का स्कोर बनाया। पहली पारी के बाद बारिश ने मैच में खलल डाला और जिसके बाद भारत के लिए लक्ष्य को 47 ओवरों में 231 रन कर दिया गया। रोहित शर्मा और शिखर धवन ने भारत को बेहतरीन शुरुआत दिलाई और दोनों बल्लेबाजों ने आते ही तेजी से रन बनाने शुरू कर दिए। इस दौरान रोहित कुछ ज्यादा ही आक्रामक होकर खेल रहे थे। रोहित ने श्रीलंका में अपना दूसरा अर्धशतक ठोका और अपने वनडे करियर का सबसे तेज अर्धशतक लगाने का रिकॉर्ड बनाया। रोहित और धवन ने पहले विकेट के लिए 109 रन जोड़े। इसी स्कोर पर भारत का पहला विकेट गिर गया और रोहित (54) रन बनाकर आउट हो गए।

[ये भी पढ़ें: गेंद स्टंप पर लगने के बावजूद आउट नहीं हुए एमएस धोनी, फिर जितवाया मैच]

 

पहला विकेट गिर जाने के बाद विकेटों की झड़ी लग गई और भारत का स्कोर 109/1 से 131/7 हो गया। भारत की इस हालत के लिए श्रीलंका के अकिला धनंजया जिम्मेदार रहे। धनंजया ने पहले अपने तीसरे ओवर में रोहित शर्मा (54) का विकेट निकालकर अपने खाते में पहला विकेट जोड़ा।

3 ओवर के बाद दनंजया के आंकड़े (3-0-19-1) थे। इसके बाद दनंजया ने अपने अगले ओवर में विकेटों की झड़ी लगा दी और 3 विकेट झटक डाले। दनंजया ने पहली गेंद पर जाधव (1), फिर तीसरी गेंद पर कोहली (4) और फिर पांचवीं गेंद पर राहुल (4) को आउट कर एक ही ओवर में 3 विकेट ले लिए। खास बात ये रही कि दनंजया ने इन तीनों ही खिलाड़ियों को बोल्ड किया। इस ओवर के बाद धनंजया के गेंदबाजी आंकड़े (4-0-24-4) हो गया। दनंजया का करिश्मा यहीं नहीं रुका। अगले ओवर में दनंजया ने फिर से अपना कमाल दिखाया और उन्होंने पांड्या (0) को स्टंप आउट करा अपना पांचवां विकेट भी हासिल कर लिया। भारत के 6 विकेट गिरे थे और उनमे से 5 विकेट धनंजय ने लिए थे।

दनंजया ने फिर से अपना कमाल दिखाया और अगले ओवर में अक्षर पटेल को भी बोल्ड कर अपना छठा विकेट हासिल कर लिया। हालांकि 131 रनों पर 7 विकेट गिर जाने के बाद धोनी और भुवनेश्वर ने पारी को संभाला और दोनों बल्लेबाजों ने सोच समझकर बल्लेबाजी की। दोनों ने स्कोर को 150 और फिर 200 के पार पहुंचा दिया। इसके अलावा दोनों ने श्रीलंका में आठवें विकेट के लिए रिकॉर्ड 100* रनों की साझेदारी भी की। अंत में दोनों बल्लेबाजों ने भारत को जीत दिलाकर दी और भारत ने सीरीज में 2-0 से अजेय बढ़त हासिल कर ली।