भारत ने वेस्टइंडीज को हराकर सीरीज 3-0 से अपने नाम की © Getty Images
भारत ने वेस्टइंडीज को हराकर सीरीज 3-0 से अपने नाम की © Getty Images

भारतीय और वेस्टइंडीज की महिलाओं के बीच खेली गई तीन मैचों की वनडे सीरीज को भारत ने 3-0 से अपने नाम करते हुए वेस्टइंडीज का सूपड़ा साफ कर दिया। भारत ने तीसरे वनडे मैच को 15 रनों से जीतकर वेस्टइंडीज को तीसरे मुकाबले में भी हार का स्वाद चखा दिया। भारत ने वेस्टइंडीज के सामने 199 रनों का स्कोर खड़ा किया था जिसके जवाब में वेस्टइंडीज की टीम ने कड़ा संघर्ष किया लेकिन अंत में वो मुकाबले को 15 रन से हार गई। भारतीय टीम ने अंतिम ओवरों में मैच में वापसी की और बेहतरीन गेंदबाजी और फील्डिंग का मुजाहिरा पेश किया और वेस्टइंडीज से मैच छीन लिया।

मैच में वेस्टइंजीड की कप्तान स्टेउनी टेलर ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। भारत की तरफ से सलामी बल्लेबाजी के लिए आई स्मृति मंधाना और दीप्ति शर्मा की जोड़ी ज्यादा देर तक मैदान पर नहीं जम सकी और वेस्टइंडीज की गेंदबाज दिआंद्रा डॉटिन ने स्मृति को दूसरे ओवर में मात्र 5 रनों के योग पर आउट कर पवेलियन भेज दिया। इसके बाद बल्लेबाजी के लिए उतरी भारतीय कप्तान मिथाली राज ने इस मैच से पहले निरंतर अच्छे रन बनाए थे लेकिन वह इस मैच में पुराने प्रदर्शन को नहीं दोहरा पाईं और मात्र 15 के निजी स्कोर पर पवेलियन लौट गईं। भारत के दो विकेट 13.2 ओवर में कुल 36 रनों पर गिर चुके थे। इसके बाद बल्लेबाजी के लिए आईं हरमनप्रीत ने दीप्ति शर्मा के साथ संक्षिप्त साझेदारी की लेकिन दीप्ति 23 रन के निजी स्कोर पर आउट हो गईं और इसके कुछ देर बाद हरमनप्रीत भी 19 रन बनाकर पवेलियन लौट गईं।  ये भी पढ़ें: प्रज्ञान ओझा को फॉलो किया, मुरली कार्तिक से सीखा: जफर अंसारी

इसके बाद वेदा कृष्णमूर्ति और देविका वैद्य ने भारतीय पारी को संभाला और दोनों ने मिलकर अच्छी साझेदारी निभाई। दोनों ने हालात के मुताबिक बल्लेबाजी की। दोनों ने एक-एक रन लेकर भारतीय पारी को आगे बढ़ाना जारी रखा और जब दोनों ने क्रीज पर अपनी निगाहं जमा लीं तो उन्होंने बड़े शॉट खेलना शुरू कर दिए। वेदा ने अपना अर्धशतक पूरा किया तो देविका ने उनका बखूबी साथ निभाया। वेदा ने आउट होने से पहले 71 रनों की पारी खेली। इसके बाद झूलन गोस्वामी के साथ मिलकर देविका ने रन बनाने का सिलसिला जारी रखा, दोनों ने निचले क्रम में टीम के लिए अहम साझेदारी निभाई और भारत के स्कोर को 199/6 कर दिया। देविका ने नाबाद 32 रन बनाए। वेस्टइंडीज की तरफ से चेडीन ने सबसे ज्यादा दो विकेट लिए तो दिआंद्रा, शाकेरा, अनीसा और स्टेफनी ने एक-एक विकेट लिया।

जवाब में वेस्टइंडीज ने भारत के मुकाबले अच्छी शुरुआत की। वेस्टइंडीज के लिए चुनौती आसान नहीं रहने वाली थी। हेली मैथ्यूज और शकाना ने संभलकर खेलते हुए वेस्टइंडीज की पारी को आगे बढ़ाते रहे। इसके बाद दीप्ति शर्मी ने भारत को पहली सफलता दिलाते हुए शकाना को 18 रनों पर पगबाधा आउट कर दिया। हेली ने इसके बाद भी रन बनाने का सिलसिला जारी रखा और राजेश्वरी गायकवाड़ की गेंद पर आउट होने से पहले 9 चौकों की मदद से 44 रनों की पारी खेली। स्टेफनी टेलर और दिआंद्रा डॉटिन अपनी टीम के लिए कुछ खास नहीं कर पाईं, लेकिन काइसिया नाइट ने लगातार रन बनाते हुए अपनी टीम को मैच में बनाए रखा।   ये भी पढ़ें: मुझे लगता था कि मैं कब मैदान पर लौटूं और रन बनाऊं: केएल राहुल

नाइट ने अर्धशतकीय पारी खेली। काइसिया ने मेरिसा के साथ मिलकर रन बनाने का सिलसिला जारी रखा। दोनों ने भारतीय गेंदबाजों को भारी दबाव में ला दिया और मैच में पकड़ मजबूत कर दी। लेकिन इसके बाद मेरिसा दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से रन आउट हो गईं और इसके बाद वेस्टइंडीज के विकेट गिरने का सिलसिला शुरू हो गया। नाइट भी 55 रन बनाकर पवेलियन लौट गईं। राजेश्वरी गायकवाड़ ने मैच में भारत की वापसी कराई। राजेश्वरी ने एक ही ओवर में दो विकेट चटकाकर भारत की तरफ मैच का रुख मोड़ दिया। इसके बाद भारत ने 5 गेंद शेष रहते मुकाबले को 15 रनों से जीत लिया।