India vs West Indies, Antigua Test: KL Rahul & Ajinkya Rahane take India to 68/3 at Lunch on Day 1
Ajinkya Rahane With KL Rahul @twitter bcci

भरोसेमंद बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा और विराट कोहली सहित तीन विकेट पहले आठ ओवर में गंवाने के बाद भारत ने वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट क्रिकेट मैच के शुरुआती दिन गुरुवार को लंच तक तीन विकेट पर 68 रन बनाए।

पढ़ेें: संजय बांगड़ की जगह विक्रम राठौड़ होंगे टीम इंडिया के नए बल्लेबाजी कोच

सलामी बल्लेबाज केएल राहुल ने शीर्ष क्रम के लड़खड़ाने के बाद पारी संवारने का बीड़ा उठाया। वह 37 रन पर खेल रहे हैं जबकि अंजिक्य रहाणे दस रन बनाकर उनका साथ निभा रहे हैं। पहले तीन विकेट 25 रन पर निकलने के बाद इन दोनों ने चौथे विकेट के लिये अब तक 43 रन जोड़े हैं।

वेस्टइंडीज की तरफ से केमार रोच ने 12 रन देकर दो और शैनन गैब्रियल ने 26 रन देकर एक विकेट लिया है। कप्तान जेसन होल्डर ने भी अच्छी लाइन और लेंथ से गेंदबाजी की लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली।

दोनों टीमों के लिए विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के इस शुरुआती मैच में भारत ने पहले टॉस और फिर पांचवें ओवर में मयंक अग्रवाल और पुजारा के महत्वपूर्ण विकेट गंवाए जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया में भारत की जीत में अहम भूमिका निभाई थी।

सुबह की बारिश के कारण खेल देरी से शुरू हुआ और पिच में नमी थी। ऐसे में ड्यूक गेंदों का सामना करना भारतीयों के लिए आसान नहीं रहा और रोच और गैब्रियल ने इसका पूरा फायदा उठाया। रोच की आगे पिच कराई गई गेंदों में मूवमेंट था जिन्हें खेलने में भारतीय बल्लेबाजों को परेशानी हुई। अग्रवाल (पांच) और पुजारा (दो) इसी तरह की गेंदों पर विकेट के पीछे कैच देकर पवेलियन लौटे। कोहली (नौ) भी दोहरे अंक में नहीं पहुंच पाए।

सलामी जोड़ी ने सतर्कता बरती

भारतीय सलामी जोड़ी ने बेहद सतर्कता बरती। अग्रवाल ने रोच की ओवरपिच गेंद को बेहतरीन टाइमिंग से चार रन के लिए भी भेजा लेकिन पारी का पांचवां ओवर भारतीय टीम पर भारी पड़ गया। रोच की गेंद अग्रवाल के बल्ले के बेहद करीब से गुजरी तथा गेंदबाज और विकेटकीपर शाई होप सहित सभी करीबी क्षेत्ररक्षकों ने जोरदार अपील की लेकिन अंपायर रिचर्ड कैटलबोरोग टस से मस नहीं हुए।

होल्डर ने कुछ देर विचार करने के बाद रिव्यू लिया और ‘अल्ट्राऐज’ से पता चला कि गेंद बल्ले को स्पर्श करके गई थी। अग्रवाल की जगह लेने उतरे पुजारा ने दो रन लेकर खाता खोला लेकिन इसी ओवर की आखिरी गेंद उनके बल्ले का किनारा लेकर होप के दस्तानों में चली गयी। लगभग सात महीने बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेल रहा भारतीय भरोसेमंद केवल चार गेंद का ही सामना कर पाया।

कट करने के चक्कर में प्वाइंट पर लपके गए कोहली

कोहली ने शुरू से ही सकारात्मक बल्लेबाजी और गैब्रियल पर दो खूबसूरत चौके जमाए, लेकिन इस तेज गेंदबाज ने उनकी लगातार शॉर्ट पिच गेंदों पर परीक्षा ली। कोहली ऐसी ही गेंद पर खुद को कट करने से नहीं रोक पाये और प्वाइंट पर आसान कैच दे बैठे।

रहाणे ने विकेट बचाए रखना अहम समझा

पिछले कुछ समय से खराब फॉर्म में जूझ रहे रहाणे ने ऐसे समय में क्रीज पर कदम रखा। स्वाभाविक था उन्होंने विकेट बचाए रखने को प्राथमिकता दी। उन्होंने होल्डर के लगातार चार ओवर मेडन खेले। दूसरी तरफ राहुल ने छठे ओवर में खाता खोला लेकिन खेल आगे बढ़ने के साथ उनका आत्मविश्वास बढ़ता गया जिसकी झलक उनके शॉट्स में साफ दिख रही थी।