इरफान पठान का मानना है कि जसप्रीत बुमराह भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे महत्वपूर्ण सदस्य हैं और वेस्टइंडीज के खिलाफ ली गई हैट्रिक उनके करियर की आखिरी नहीं होगी।

बुमराह ने हाल में समाप्त हुए वेस्टइंडीज के खिलाफ दो मैचों की टेस्ट सीरीज में कुल 13 विकेट चटकाए, जिसमें एक हैट्रिक भी शामिल है।

पढ़ें:- सौराष्‍ट्र को रणजी चैंपियन बनाने वाले खिलाड़ी ने उठाए BCCI की चयन प्रक्रिया पर सवाल

वह टेस्ट क्रिकेट में हैट्रिक लेने वाले तीसरे भारतीय गेंदबाज हैं। इससे पहले, हरभजन सिंह और इरफान पठान ने क्रिकेट से इस प्रारूप में हैट्रिक ली थी।

इरफान ने कहा, “मैं यह मानता हूं कि वह टीम के सबसे महत्वपूर्ण क्रिकेट खिलाड़ी हैं। जब बुमराह नहीं खेलते हैं तब भारत का सबसे बड़ा नुकसान होता है। वह टीम का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। भारतीय क्रिकेट सौभाग्यशाली है कि उसके पास बुमराह जैसा गेंदबाज है।”

इरफान ने कहा, “भारत को उनकी देखभाल करने की जरूरत है। वह ऐसे गेंदबाज हैं जो तीनों प्रारूपों में सफल हो सकते हैं।” बुमराह से पहले टेस्ट में हैट्रिक लेने वाले आखिरी भारतीय गेंदबाज इरफान ही थे। उन्होंने 2006 में कराची टेस्ट के पहले ओवर में हैट्रिक ली थी।

इरफान ने कहा, “मुझे यकीन है कि यह उनके करियर की आखिरी हैट्रिक नहीं होगी। हैट्रिक लेने के बाद के भाव को अपन बयां नहीं कर सकते। आप जानते हैं कि यह बार-बार नहीं होता।”

पढ़ें:- मिस्‍बाह उल हक को मिली मुख्‍य कोच व चयनकर्ता की दोहरी जिम्‍मेदारी

“कुछ खिलाड़ी अपने पूरे करियर में हैट्रिक नहीं ले पाते। एक बार आपने ऐसा कर दिखाया तो आपने जीवन में कुछ अलग किया है।”

चिर-प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ ली गई हैट्रिक को याद करते हुए इरफान ने कहा, “मैं उस हैट्रिक को अपने परिवार को समर्पित करना चाहूंगा। वह मेरे लिए बहुत विशेष थी और अपने परिवार के समर्थन के बिना मैं उसे हासिल नहीं कर पाता।”