India vs West Indies: Virat kohli and company eying victory in their first Test Championship match
Mohammed Shami, virat kohli (File Photo) @AFP

भारतीय टीम पहली विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के शुरूआती मुकाबले में गुरूवार को जब वेस्टइंडीज के सामने उतरेगी तो कप्तान विराट कोहली सटीक टीम संयोजन को लेकर जीत के साथ आगाज करना चाहेंगे।

भारत अगर यह मैच जीतता है तो बतौर कप्तान कोहली की 27वीं टेस्ट जीत होगी और वह महेंद्र सिंह धोनी की बराबरी कर लेंगे। इस मैच में शतक जमाने पर वह बतौर कप्तान 19 टेस्ट शतक के रिकी पोंटिंग के रिकाॅर्ड की बराबरी कर लेंगे।

पढ़ें:- जाने, टीम इंडिया की नई जर्सी पर पुजारा, राहुल और बुमराह ने क्‍या दी प्रतिक्रिया…

कोहली, चेतेश्वर पुजारा, केएल राहुल और रोहित शर्मा के रहते भारतीय टीम कागजों पर मजबूत लग रही है लेकिन जेसन होल्डर की अगुवाई वाली कैरेबियाई टीम को हलके में नहीं लिया जा सकता ।

इंग्लैंड को इसका अनुभव हो चुका है जिसे इस साल की शुरूआत में वेस्टइंडीज की जीवंत पिचों पर 1-2 से पराजय झेलनी पड़ी थी। एंटीगा के सर विवियन रिचडर्स स्टेडियम की विकेट भी तेज गेंदबाजों की मददगार है।

कोहली ने पहली विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के बारे में कहा ,‘‘ लोग ऐसी बातें कर रहे हैं कि टेस्ट क्रिकेट प्रासंगिक नहीं रह गया है या खत्म हो रहा है। मेरा तो यह मानना है कि प्रतिस्पर्धा दाेगुनी हो गई है। खिलाड़ियों को चुनौती का सामना करके जीत का प्रयास करना चाहिये।’’

उन्होंने कहा ,‘‘अब मुकाबले काफी प्रतिस्पर्धी होंगे और टेस्ट मैच रोमांचक हो जायेंगे। यह सही समय पर लिया गया सही फैसला है।’’

यहां पिछले टेस्ट में इंग्लैंड की टीम 187 और 132 रन पर आउट हो गई थी लेकिन वह दूसरा समय था। कोहली और मुख्य कोच रवि शास्त्री की चिंता का सबब केमार रोच और शेनन गेब्रिएल से मिलने वाली नयी गेंद की चुनौती होगा। पिच में गति और उछाल होने पर कोहली चार विशेषज्ञ गेंदबाजों को लेकर उतर सकते हैं। ऐसे में आर अश्विन और कुलदीप यादव के बीच एकमात्र स्पिनर की जगह के लिये होड़ होगी। तीन तेज गेंदबाजों की जगह जसप्रीत बुमराह, इशांत शर्मा ओर मोहम्मद शमी लेंगे।

पढ़ें:- परंपराओं को तोड़ते हुए इंग्‍लैंड की टीम 2020 में करेगी ये काम

बल्लेबाजी संयोजन दुरुस्त करना कोहली के लिये माथापच्ची का काम होगा। हार्दिक पांड्या उपलब्ध होते तो कोहली ऐसी स्थिति में रोहित या अजिंक्य रहाणे में से एक को बाहर रख सकते थे। वैसे टेस्ट क्रिकेट में वेस्टइंडीज के हालिया रिकाॅर्ड को देखते हुए वह अतिरिक्त बल्लेबाज को लेकर उतर सकते हैं।

हरी भरी पिच होने पर कोहली पांच गेंदबाजों को भी उतार सकते हैं जिसके मायने हैं कि मुंबई के दोनों बल्लेबाजों में से एक का चयन होगा और रवींद्र जडेजा ऑलराउंडर के रूप में खेलेंगे।

पढ़ें:- IND vs WI : एंटीगा टेस्‍ट में ऐसा हो सकता भारत का प्‍लेइंग इलेवन

यह भी देखना होगा कि मयंक अग्रवाल के साथ पारी का आगाज कौन करता है । केएल राहुल विशेषज्ञ सलामी बल्लेबाज हैं लेकिन ऑस्ट्रेलिया में हनुमा विहारी को उतारा गया। अब कमोबेश आसान तेज आक्रमण के सामने उसे मौका नहीं देना ज्यादती होगी।

वेस्टइंडीज के पास शाई होप, जान कैंपबेल और शिमरोन हेटमेयर के रूप में तीन प्रतिभाशाली युवा हैं। भारत के खिलाफ 2016 की सीरीज के दौरान चेस ने पूरा दिन अश्विन को छकाया था जब वेस्टइंडीज पारी की हार की कगार पर था । डेरेन ब्रावो 52 टेस्ट में 3500 रन बना चुके हैं ।

टीमें :

भारत : विराट कोहली (कप्तान), मयंक अग्रवाल, केएल राहुल, चेतेश्वर पुजारा, हनुमा विहारी, अजिंक्य रहाणे, रोहित शर्मा, रिषभ पंत, कुलदीप यादव, रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जडेजा, इशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह, उमेश यादव, भुवनेश्वर कुमार, रिद्धिमान साहा।

वेस्टइंडीज : जेसन होल्डर (कप्तान) क्रेग ब्रेथवेट, डेरेन ब्रावो, शामार ब्रूक्स, जाॅन कैंपबेल, रोस्टन चेस, रकहीम कार्नवाल, शेन डोरिच, शेनन गैब्रियल, शिमरोन हेटमेयर, शाई होप, कीमो पॉल, केमार रोच।