Smriti Mandhana © Getty Images
India women vs New Zealand women: Told myself to not play rash and lofted shots, says Smriti Mandhana
Smriti Mandhana (File Photo) © Getty Images

न्‍यूजीलैंड और भारत की महिला टीमों के बीच गुरुवार को खेले गए नेपियर वनडे में स्‍मृति मंधाना की शतकीय पारी के दम पर टीम इंडिया ने नौ विकेट से जीत दर्ज की। मैच के बाद स्‍मृति ने कहा,”मैं बार-बार खुद को समझा रही थी कि मुझे लापरवाही भरे शॉट नहीं खेलने हैं। सिंगल और डबल रन के सहारे टीम को जीत तक पहुंचाना है।”

न्‍यूजीलैंड में ये भारतीय महिला टीम की विकेट के लिहाज से सबसे बड़ी जीत है। पहले बल्‍लेबाजी करते हुए न्‍यूजीलैंड की टीम 193 रनों पर ऑलआउट हो गई। लक्ष्‍य का पीछा करने के दौरान भारतीय टीम की तरफ से स्‍मृति मंधाना ने नौ चौकों और तीन छक्‍कों की मदद से 104 गेंद पर 105 रन की पारी खेली। उन्‍होंने दूसरी सलामी बल्‍लेबाज जेमिमा रोड्रिगेज के साथ पहले विकेट के लिए 190 रन जोड़कर टीम की जीत सुनिश्चित की।

पढ़े:- नेपियर में 8 विकेट से जीता भारत, न्यूजीलैंड पर 1-0 की बढ़त

आईसीसी महिला क्रिकेटर ऑफ द ईयर चुनी गई स्‍मृति मैच में उस वक्‍त आउट हुई जब भारत न्‍यूजीलैंड के स्‍कोर से महज तीन रन पीछे था। उन्‍होंने कहा, “मैं अपने प्रदर्शन से काफी खुश हूं। मुझे लग रहा था कि 70 से 80 रन के स्‍कोर पर मैं आउट हो जाऊंगी। उस वक्‍त मैंने खुद से बात की और समझाया कि मुझे लापरवाही से बड़े शॉट नहीं खेलने हैं। मुझे केवल सिंगल और डबल रन लेने पर ही फोकस करना है।”

पढ़ें:- उमेश यादव ने झटके 7 विकेट, 106 रन पर सिमटी केरल की पहली पारी

स्‍मृति ने कहा, “मैं खुश हूं कि मैच के दौरान मैं ऐसा कर पाई। अगर मैं तीन रन भाग कर ले पाती तो मैं ज्‍यादा खुश होती। ये विकेट बल्‍लेबाजी के लिए काफी अच्‍छी थी। शुरुआत में हमने गेंद की योग्‍यता के हिसाब से ही उसपर शॉट लगाए। उनके पास अच्‍छे तेज गेंदबाज हैं। हमारा प्‍लान था कि पहले पिच के हिसाब से देखें कि गेंद कैसे रिएक्‍ट कर रही है। ये पहली बार है जब मैं न्‍यूजीलैंड में खेल रही हूं। मुझे यहां के बारे में ज्‍यादा नहीं पता था। हमने थोड़े बहुत पुरुष टीम के मैच देखे थे,जिससे परिस्थितियां समझने में मदद मिली।