© Getty Images
© Getty Images

भारत की महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज के प्रशंसकों को जल्द ही अब उनके जीवन के बारे में जानने का मौका मिलेगा। मिताली के जीवन पर आधारित आत्मकथा का विमोचन अगले साल होने जा रहा है। पेंगुइन हाउस ऑफ इंडिया इस किताब का प्रकाशन कर रही है। इस किताब के जरिए प्रशंसकों को मिताली के जीवन से जुड़ी कई बातों को जानने का मौका मिलेगा। इसके साथ ही प्रशंसक मिताली के जीवन के उन उतार-चढ़ावों से भरे पलों को जान पाएंगे, जिन्हें पार करते हुए एक आम लड़की भारत की महिला क्रिकेट टीम की कप्तान बनीं और कई लोगों के लिए प्रेरणा भी।

मिताली ने इस घोषणा के बाद अपने एक बयान में कहा, ‘मैं पेंगुइन हाउस परिवार का हिस्सा बनकर बेहद खुश हूं और किताब के जरिए अपनी कहानी आप सबको बताने के लिए उत्सुक भी हूं। आशा है कि लोगों को मेरे जीवन पर आधारित यह किताब पसंद आएगी।’ पेंगुइन हाउस की एसोसिएट कमिशिनिंग एडिटर राधिका मारवाह ने कहा, ‘मिताली एक आदर्श हैं और लोगों के लिए प्रेरणा हैं।’ मारवाह ने कहा, ‘क्रिकेट के मैदान पर दर्शाए गए अपने नेतृत्व, क्षमता और प्रतिभा के दम पर उन्होने लोगों को अपना प्रशंसक बनाया है और हमेशा अपनी जमीन से जुड़ी हुई रही हैं। मैं उनके साथ काम करके अपने आप को काफी सौभाग्यशाली मान रही हूं और गर्व है कि पेंगुइन हाउस को उन्होंने उनकी आत्मकथा बयां करने का मौका दिया है।’ पाकिस्तान की टीम को जिताएगा इंजमाम उल हक का भतीजा

मिताली वनडे फॉर्मेट में दुनिया की सबसे ज्यादा रन बनाने वाली पहली खिलाड़ी हैं। उन्होंने वनडे करियर में 6,190 रन बनाए हैं। अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित मिताली ने 19 साल की उम्र में दुनिया को अपनी बल्लेबाजी की ताकत दिखाई थी। उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे और अंतिम टेस्ट मैच में 214 रनों की पारी खेली थी। इसके अलावा, मिताली भारत की पहली ऐसी महिला कप्तान हैं, जिनकी कप्तानी में भारत ने दो बार 2005 और 2017 विश्व कप टूनार्मेंट के फाइनल में जगह बनाई। क्रिकेट जगत में अपने अतुलनीय योगदान के लिए 2015 में मिताली को देश के चौथे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्मश्री से सम्मानित किया गया था। मिताली को 2017 में बीबीसी ने 100 प्रेरणादायी महिलाओं की सूची में शामिल किया था।