Indian allrounder Hardik Pandya revealed his secrets of Success
Hardik pandya

मेलबर्न. भारतीय ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने पाकिस्तान के खिलाफ मैच में ऑलराउंड प्रदर्शन किया. उन्होंने गेंदबाजी में तीन विकेट लिए, वहीं उन्होंने बल्ले से भी 40 रन का योगदान दिया. टीम इंडिया ने 31 रन के स्कोर पर चार विकेट गंवा दिए थे, उसके बाद पांड्या ने कोहली के साथ 78 गेंद में 113 की साझेदारी की, जिसकी वजह से टीम इंडिया ने इस मुकाबले में जीत हासिल की.

मगर 29 साल के इस खिलाड़ी को कुछ साल पहले कोई अंदाजा नहीं था कि उनका भविष्य क्या होगा लेकिन एक बार असफलता का भय निकल गया तो उन्हें अपना यह स्वरूप पसंद आने लगा है. पांड्या ने गेंदबाजी फिटनेस हासिल करने के लिये रिहैबिलिटेशन करने के बाद उन्होंने प्रतिस्पर्धी क्रिकेट में वापसी की और नयी टीम गुजरात टाइटन्स को इंडियन प्रीमियर लीग का खिताब दिलाया और विश्व कप में इनका जलवा जारी है.

पंड्या से जब पीटीआई ने सवाल पूछा तो उन्होंने कहा कि ऐसा भी समय था जब मैं नहीं जानता था कि हार्दिक के लिये अगली चीज क्या है। इसलिये मुझे अपनी सोचने की प्रक्रिया में काफी शामिल होना पड़ा और फिर मैंने खुद से पूछा कि आप जिंदगी से क्या चाहते हो ?

उन्होंने कहा कि मैंने असफलता का डर निकाल दिया और आगे क्या होने वाला है या फिर नतीजा क्या होगा, इससे परेशान नहीं होता कि लोग क्या कहेंगे लेकिन मैं लोगों की राय का सम्मान करता.