Indian bowlers are not exploiting Steve Smith’s weakness is with the short-ball: Brad Hogg
स्टीव स्मिथ (Twitter)

भारत का ऑस्ट्रेलिया दौरा शुरू होने से पहले मेजबान टीम के स्टार बल्लेबाज स्टीव स्मिथ के खिलाफ शॉर्ट लेंथ गेंदों का इस्तेमाल करने को लेकर काफी चर्चा हो रही थी, जिसका इस खिलाड़ी से स्वागत किया था। वनडे सीरीज से पहले दिए बयान में स्मिथ ने कहा था कि अगर भारतीय गेंदबाज उनके खिलाफ बाउंसर गेंदो का इस्तेमाल करते हैं तो वो उसके लिए तैयार हैं लेकिन पहले दो वनडे मैचों में भारतीय गेंदबाजो ने स्मिथ के खिलाफ शॉर्ट लेंथ गेंदो का खास इस्तेमाल नहीं किया।

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर ब्रैड हॉग टीम इंडिया की इस रणनीति से खुश नहीं है। उन्होंने कहा कि भारतीय गेंदबाजों को स्मिथ के खिलाफ बाउंसर गेंदो का और ज्यादा इस्तेमाल करना चाहिए।

अपने यू-ट्यूब चैनल पर पोस्ट किए वीडियो में उन्होंने कहा, “मेरे लिए सबसे बड़ी परेशानी ये है कि जब स्टीव स्मिथ बाहर आया तो उन्होंने किसी भी समय उसके खिलाफ गेंद को बाउंस नहीं कराया। उन्होंने या तो गुड लेंथ पर गेंदबाजी की या फिर फुल लेंथ पर। मुझे ये समझ नहीं आता क्योंकि शॉर्ट बॉल स्मिथ की कमजोरी है।”

बाबर आजम लंबे समय तक पाकिस्तान के कप्तान बने रहेंगे : पीसीबी

भारत के खिलाफ पहले दोनों वनडे मैचों में स्मिथ ने शतकीय पारियां खेली। जिसके दम पर ऑस्ट्रेलिया ने पहले मैच में 374 और दूसरे में 389 रन का बड़ा स्कोर खड़ा किया।

हॉग ने आगे कहा, “स्टीव स्मिथ क्रीज पर आता है, अपने दोनो पैर सेट कर लेता है और वो सीना चौड़ा कर आगे खड़ा होता है ऐसे में वो (शॉर्ट गेंद के खिलाफ) झुक नहीं सकता है और उसे पुल शॉट खेलना ही पड़ता। आप स्मिथ को बैकफुट पर भेजकर पूरे दौरा को सेट कर सकते थे।”

हॉग ने कहा कि शॉर्ट पिच गेंद ना केवल स्मिथ बल्कि ऑस्ट्रेलिया के एक और स्टार खिलाड़ी ग्लेन मैक्सवेल को भी परेशान करती हैं लेकिन टीम इंडिया उनके खिलाफ भी शॉर्ट लेंथ का इस्तेमाल नहीं कर पाई।

उन्होंने कहा, “और फिर ग्लेन मैक्सवेल, उसके खिलाफ केवल यॉर्कर कराना ताकि वो रिवर्स स्वीप आराम से खेल सके। वो ऐसा खिलाड़ी है जिसके खिलाफ आपको शॉर्ट बॉल करानी चाहिए लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया।”