भारत ने न्यूजीलैंड को टेस्ट सीरीज में 3-0 से हरा दिया © AFP
भारत ने 3-0 से सीरीज जीतकर न्यूजीलैंड का सूपड़ा साफ कर दिया © AFP

विराट कोहली एंड कंपनी ने तीसरे टेस्ट में न्यूजीलैंड को एक दिन शेष रहते हरा दिया। टेस्ट सीरीज में जीत के बाद सम्मान वितरण समारोह के दौरान भारत को सीरीज में जीत की ट्रॉफी, मैन ऑफ द सीरीज, मैन ऑफ द मैच समेत कई अन्य खिताब मिले। लेकिन इन सब में जो एक ट्रॉफी सबसे खास रही वो थी आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप की गदा। टेस्ट इतिहास में यह केवल दूसरा मौका है जब भारत के कप्तान ने टेस्ट गदा को हासिल किया हो। एमएस धोनी के बाद विराट कोहली इस उपलब्धि को हासिल करने वाले दूसरे भारतीय कप्तान बने। धोनी ने इससे पहले 2009 में श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट जीतने पर आईसीसी की यह गदा हासिल की थी।

टेस्ट क्रिकेट को और चुनौतीपूर्ण बनाने के लिए आईसीसी ने 2003 की गर्मियों में टेस्ट में रैंकिंग सिस्टम लेकर आई। रैंकिंग से आईसीसी का मकसद टेस्ट को और चुनौतीपूर्ण बनाने का था, जिससे देशों के प्रति नंबर एक बनने के लिए जबर्दस्त टक्कर हो और खेल का स्तर और ऊंचा हो सके। जून 2003 के बाद आईसीसी हर महीने के आखिर में आईसीसी की रैंकिंग जारी करती है। 13 सालों के रैंकिंग के इतिहास में ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, दक्षिण अफ्रीका, भारत और पाकिस्तान ही ऐसी पांच टीमें हैं जो नंबर एक का स्थान हासिल कर चुकी हैं।

रेटिंग प्वॉइंट:

हर सीरीज में जीत के बाद जीतने वाली टीम को कुछ अंक मिलते हैं। टीमों को अंक मैचों के आधार पर दिए जाते हैं और अंकों के आधार पर टीमों की रेटिंग फिक्स होती है, और 1 अप्रैल को जो भी टीम नंबर एक स्थान पर होती है उसे आईसीसी की तरफ से 1 मिलियन डॉलर (6.7 करोड़ रुपये) की राशि दी जाती है। ऐसे में इस साल जब भारत को अपने घरेलू मैदानों पर कइईइ सारे टेस्ट मैच खेलने हैं तो विराट कोहली के पास इस बार इस बड़ी राशि को पाने का मौका है। रैंकिंग के साथ ही आईसीसी नंबर एक पर रहने वाली टीम को एक ट्रॉफी प्रदान करता है जिसे आईसीसी की गदा कहते हैं। हाल ही में पाकिस्तान के टेस्ट कप्तान ने आईसीसी की गदा को हासिल कर इतिहास रच दिया था और आईसीसी गदा हासिल करने वाले वह पाकिस्तान के पहले कप्तान बन गए थे। लेकिन ऐसा कुछ ही महीनों के लिए हो सका क्योंकि उसके बाद विराट कोहली और टीम ने पाकिस्तान को नंबर एक की कुर्सी से बेदखल कर उन्हें नीचे ढकेल दिया और खुद नंबर एक की कुर्सी पर काबिज हो गए।

आईसीसी टेस्ट गदा:

आईसीसी टेस्ट गदा टीम के लिए एक गौरवशाली ट्रॉफी है जो टीमों के बीच अंतर पैदा करती है। आईसीसी ने इस ट्रॉफी को बेहद अलग तरीके से बनाई है, जो कि आईसीसी की दूसरी ट्रॉफी से बिल्कुल अगल है। आईसीसी टेस्ट गदा को ब्रिटेन के ज्वैलर्स एसप्रे और गेरार्ड ने बनाई है। टेस्ट गदा की लंबाई 90 सेंटीमीटर है, जो कि सोने और चांदी से बनी है। ट्रॉफी की निचली सतह क्रिकेट स्टंप के आकार की है तो वहीं ऊपरी भाग जो गोल है जिसमें टेस्ट खेलने वाले सभी 10 टीमों के राष्ट्रीय प्रतीक हैं। स्टंप और गोले को टेस्ट क्रिकेट के सबसे पुराने और शुद्ध प्रतीक के रूप में जाना जाता है।

ट्रॉफी की कीमत है 30,000 पाउंड (24 लाख रुपये):

आईसीसी टेस्च गदा की ट्रॉफी की कीमत लगभग 30,000 पाउंड (24 लाख रुपये) है, जब से आईसीसी ने रैंकिंग सिस्टम को जारी किया है तब लेकर अब तक इस गदा को सबसे ज्यादा देर ऑस्ट्रेलिया ने अपने पास रखा है, ऑस्ट्रेलिया ने अगस्त 2003 से 2009 तक आईसीसी गदा को अपने ोपास रखने में कामयाबी पाई थी और लिहाज से ऑस्ट्रेलिया इस ट्रॉफी का असल मालिक भी है। स्टीव वॉग, रिकी पोन्टिंग, ग्रीम स्मिथ, एमएस धोनी, मिस्बाह-उल-हक और अब विराट कोहली ऐसे कप्तान हैं जिन्हें इस ट्रॉफी को जीतने की उपलब्धि हासिल हुई है।