Indian fans flared up at ICC, Urges MS Dhoni to keep his Army insignia gloves
महेंद्र सिंह धोनी (AFP)

आईसीसी विश्व कप 2019 के दौरान महेंद्र सिंह धोनी के पैरा स्पेशल फोर्स के चिन्ह वाले दस्तानों की फोटो सामने आने के बाद  फैंस ने भारतीय सेना के प्रति धोनी के इस सम्मान की सराहना की। हालांकि अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल को ये बात जमी नहीं और उन्होंने धोनी से उनके दस्तानों से भारतीय सेना का चिन्ह हटाने के लिए बीसीसीआई से निवेदन किया। बोर्ड की तरफ से इस मामले पर कोई जवाब नहीं आया है लेकिन फैंस ने सोशल मीडिया के जरिए आईसीसी की जमकर आलोचना की है।

ट्विटर पर #DhoniKeepTheGlove का हैशटैग ट्रेंड कर रहा है। जिसके साथ फैंस आईसीसी के खराब अंपायरिंग को अनदेखा कर धोनी के दस्ताने के मामले पर ज्यादा ध्यान देने का मजाक उड़ा रहे हैं। कई फैंस ने ये बात भी कही की जब पाकिस्तानी टीम के मैदान पर नमाज पढ़ने से आईसीसी को कोई परेशानी नहीं थी कि धोनी के आर्मी बैज वाले दस्तानें उन्हें क्यों खटक रहे हैं।

बता दें कि पूर्व भारतीय कप्तान धोनी को भारतीय सेना की पैराशूट रेजिमेंट में लेफ्टिनेंट कर्नल के मानद उपाधि मिली ही। साल 2015 में धोनी ने पैरा ब्रिगेड के साथ ट्रेनिंग भी की थी।

ये पहला मौका नहीं है जब धोनी आर्मी के निशान वाले दस्ताने पहनकर मैदान पर उतरे हैं। धोनी अक्सर ही आर्मी के निशान वाले दस्ताने या कैप पहने नजर आते हैं। हाल ही में ऑस्ट्रेलिया टीम के भारत दौरे पर हुई वनडे सीरीज के दौरान रांची में हुए मैच में धोनी ने पूरी टीम को आर्मी के निशान वाली कैप दी थी। जिसे पहनकर टीम इंडिया ने वो मैच खेला था।

हालांकि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने इस पर आपत्ति जताई थी और आईसीसी से कार्यवाई की मांग की थी। लेकिन आईसीसी ने तब कोई कदम नहीं उठाया था। ऐसे में अब आईसीसी का इस तरह का रुख अपनाना फैंस के गले नहीं उतर रहा है।