ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जाने वाले भारतीय स्क्वाड से शानदार फॉर्म में चल रहे मध्यक्रम बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव (Suryakumar Yadav) को मौका ना देकर टीम इंडिया के चयनकर्ता फैंस के निशाने पर आए थे। कई पूर्व दिग्गजों ने भी यादव को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज के लिए भारतीय स्क्वाड में शामिल किए जाने की बात कही।

अब भारतीय चयनकर्ता देवांग गांधी ने इस मुद्दे पर जवाब दिया है। टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए एक इंटरव्यू में यादव को स्क्वाड में शामिल ना करने का कारण बताया। गांधी के मुताबिक भारतीय टीम के पास इतने सारे प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं कि किसे बाहर करना है चुनना अक्सर मुश्किल हो जाता है। उन्होंने ये भी कहा कि जो लोग यादव के बाहर होने से नाखुश हैं, वो ये भी बता दें कि उन्हें मौका देने के लिए किसे बाहर रखा जाता।

उन्होंने कहा, “मैं उन सभी समीक्षकों से ये निवेदन करूंगा कि जब वो सूर्यकुमार यादव को बाहर किए जाने की बात कर रहे हैं तो वो ये भी बता दें कि किसे बाहर किया जाता। भारत के पास बेहद मजबूत बेंच स्ट्रेंथ हैं और चयन प्रक्रिया अक्सर बहिष्कार के बारे में होती है। एक स्पॉट के लिए चार अच्छे खिलाड़ी होते हैं। जाहिर है कि आपको कुछ प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को बाहर रखना पड़ता है।”

उन्होंने कहा, “सूर्यकुमार एक शानदार खिलाड़ी है लेकिन उसे धैर्य रखना होगा। उसे लगातार अच्छा प्रदर्शन करना होगा। मयंक अग्रवाल वो बल्लेबाज है जिसने लगातार अच्छा प्रदर्शन कर टीम में जगह बनाई है।”

चयनसमिति और कप्तान विराट कोहली के बीच के संबंध पर बात करते हुए कहा, “हमारे बीच कई अंतर हैं और अक्सर चर्चा होती है और फिर हम कोई फैसला करते हैं। कई ऐसे मौके आए हैं जब कोहली हमसे पूछते हैं कि हम किसी खिलाड़ी में क्या देखा। हमें उसे समझाना होता है कि इस खिलाड़ी के बार भारत के लिए खेलने की काबिलियत है।”