Indian T20 League, Rajsthan vs Punjab, Preview: Steve Smith will look to retain form and fitness
स्टीव स्मिथ © IANS

राजस्थान टीम आज जब पंजाब के खिलाफ 12वें इंडियन टी20 लीग के शुरूआती मुकाबले में आमने सामने होंगी तो सभी की नजरें ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज स्टीव स्मिथ की वापसी पर लगी होगी।

स्मिथ और डेविड वार्नर पर दक्षिण अफ्रीका में गेंद से छेड़छाड़ मामले में एक साल पहले एक साल का बैन लगा था। स्मिथ पिछले साल बांग्लादेश प्रीमियर लीग के दो मैचों में खेलते दिखे थे लेकिन कोहनी की चोट के कारण वो टूर्नामेंट से बाहर हो गए।

ये भी पढ़ें: विराट कोहली और एबी डिविलियर्स के विकेट लेना अच्छा था

वापसी के लिए भारतीय लीग सही शुरूआत होगी और स्मिथ इंग्लैंड में 30 मई से होने वाले विश्व कप से पहले इसका फायदा उठाने का प्रयास करेंगे। स्मिथ हालांकि अभी तक कोहनी की चोट से पूरी तरह से नहीं उबर सके हैं और फिटनेस हासिल करने में उन्हें थोड़ा और समय लगेगा। अजिंक्य रहाणे की अगुवाई वाली राजस्थान इस सीजन की सर्वश्रेष्ठ टीमों में से एक है और वो घरेलू हालात का फायदा उठाने के लिए बेताब होंगे।

विदेशी खिलाड़ियों के वापस लौटने से पहले ज्यादा से ज्यादा मैच जीतने की ख्वाहिश

इंग्लैंड के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स और जोस बटलर भी टीम का हिस्सा हैं लेकिन ये 25 अप्रैल के बाद उपलब्ध नहीं हो पाएंगे क्योंकि इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने विश्व कप के लिए ये फरमान जारी किया है। इसलिए राजस्थान की टीम तब तक ज्यादा से ज्यादा मैच जीतना चाहेगी। स्टोक्स बल्लेबाजी और गेंदबाजी में उनके लिए फिर अहम खिलाड़ी होंगे जबकि पंजाब की टीम भी चाहेगी कि कल उनका ऑलराउंडर सैम कर्रन बेहतरीन प्रदर्शन करें।

ये भी पढ़ें: चेपॉक पिच के समर्थन में उतरे हरभजन सिंह 

उनकी गेंदबाजी में भी काफी गहराई है जिसमें तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट विश्व कप के लिए भारतीय टीम में स्थान हासिल करने पर निगाह लगाए होंगे। वरूण एरोन, धवल कुलकर्णी, जोफ्रा आर्चर, ईश सोढी और कुछ अन्य विकल्प राजस्थान के लिए विभिन्न हालात में गेंदबाजी करने के लिए मौजूद होंगे।

अश्विन के सामने खुद को साबित करने की चुनौती

वहीं रविचंद्रन अश्विन की अगुवाई वाली पंजाब की टीम अपने सलामी बल्लेबाज क्रिस गेल और केएल राहुल पर निर्भर होगी कि ये उसे आक्रामक शुरूआत दिलाए। वहीं पंजाब की टीम जल्दी ही वेस्टइंडीज के इस विस्फोटक सलामी बल्लेबाज का विकेट झटकने की कोशिश करेगी। कप्तान अश्विन ये साबित करने के लिए बेताब होंगे कि वो इस फॉर्मेट में भी अंतर पैदा कर सकते हैं। मोहम्मद शमी, एंड्रयू टाई और मुजीब उर रहमान की मौजूदगी से पंजाब की गेंदबाजी मजबूत दिखती है।