साल 2022 में मिताली राज (Mithai Raj) के नेतृत्व वाली भारतीय महिला क्रिकेट टीम के पास 4 मार्च से 3 अप्रैल तक न्यूजीलैंड में खेले जाने वाला आईसीसी महिला विश्व कप (ICC Women’s World Cup 2022) जीतकर इतिहास बनाने का एक सुनहरा अवसर है।

इंग्लैंड के खिलाफ 2017 विश्व कप के फाइनल में सिर्फ नौ रनों से हारने के बाद, भारत 2020 में टी20 विश्व कप के फाइनल तक पहुंचा था। हालांकि, एक बार फिर वे आखिरी समय में खिताब जीतने से चूक गए थे और ऑस्ट्रेलियाई टीम चैंपियन बन गई थी। 2022 में वीमेन इन ब्लू एक कदम आगे बढ़कर अपनी पहली आईसीसी ट्रॉफी जीतना चाहेगी।

बीते साल महिला क्रिकेट टीम के लिए अच्छा नहीं था, क्योंकि वो दक्षिण अफ्रीका (1-4), इंग्लैंड (1-2) और ऑस्ट्रेलिया (1-2) से वनडे सीरीज हार गईं थीं। हालांकि, ये स्पष्ट है कि भारत अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन से किसी को भी हरा सकता है, जिसने पिछले साल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे श्रृंखला में चार साल बाद हार का सूखा समाप्त किया था।

आगामी 50 ओवरों का विश्व कप अनुभवी मिताली राज और झूलन गोस्वामी के लिए भी अहम हो सकता है, जो दो दशकों से अधिक समय से भारतीय क्रिकेट को अपनी सेवाएं दे रही हैं और वे निश्चित रूप से अपने करियर को उच्च स्तर पर समाप्त करने का प्रयास करेंगे।

जहां कप्तान मिताली और तेज गेंदबाज झूलन न्यूजीलैंड में विश्व कप में भारत को सफलता दिलाने के लिए महत्वपूर्ण खिलाड़ी होंगी, वहीं अनुभवी जोड़ी को भारत के उभरते सितारों जैसे शेफाली वर्मा (Shafali Verma), यास्तिका भाटिया (Yastika Bhatia), ऋचा घोष (Richa Ghosh) और स्नेह राणा (Sneh Rana) से भरपूर समर्थन की आवश्यकता होगी।

दूसरी ओर,स्मृति मंधाना (Smiriti Mandhana), हरमनप्रीत कौर (Harmanpreet Kaur), शिखा पांडे (Shikha Pandey), पूनम राउत (Poonam Raut), दीप्ति शर्मा (Deepti Sharma), राजेश्वरी गायकवाड़ (Rajeshwari Gayakwad) और जेमिमा रोड्रिग्स (Jemimah Rodrigues) को भी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का पर्याप्त अनुभव है, जो न्यूजीलैंड की चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में महत्वपूर्ण होगा। टीम फरवरी में मेजबान न्यूजीलैंड के खिलाफ पांच वनडे मैचों की सीरीज भी खेलेगी, जो मेगा इवेंट के लिए एक आदर्श तैयारी होगी।

कुल मिलाकर, भारत के पास युवाओं और अनुभव का अच्छा मिश्रण है और जब वे विश्व कप में 6 मार्च को टॉरंगा में पाकिस्तान के खिलाफ पहले मैच से शुरुआत करेंगे, जो विश्व कप जीतने के दावेदारों में से एक होंगे। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया आईसीसी आयोजनों में भारत के लिए चुनौती रहे हैं, लेकिन फिर भी मिताली राज की अगुवाई वाली टीम अपने भाग्य को बदलने और अपना पहला खिताब हथियाने की कोशिश करेगी।

इस बीच, 2022 भारत में महिला क्रिकेट के लिए एक बहुप्रतीक्षित महिला आईपीएल के रूप में खुशखबरी भी ला सकता है। एक पूर्ण महिला आईपीएल के आयोजन के लिए काफी बातचीत चल रही और उसी के बारे में बात करते हुए बीसीसीआई सचिव जय शाह ने हाल ही में कहा कि बोर्ड निकट भविष्य में इस कार्यक्रम को आयोजित करने की योजना पर काम कर रहा है।