ऑस्ट्रेलियाई वनडे टीम के कप्तान एरोन फिंच भारत के खिलाफ मुंबई वनडे में धमाकेदार जीत दर्ज करने के बाद बेहद खुश हैं. फिंच और डेविड वॉर्नर की धमाकेदार शतकीय पारी की बदौलत कंगारू टीम ने मेजबान टीम को 10 विकेट से पराजित कर दिया.

कोहली ने चौथे नंबर पर उतरने का किया बचाव, बोले-घबराने की जरूरत नहीं

जीत के बाद फिंच ने अपने गेंदबाजों की जमकर तारीफ करते हुए कहा कि बीच ओवरों में भारतीय बल्लेबाजों को रोकने से टीम को फायदा हुआ. भारत का मध्यक्रम ने एक बार फिर निराश किया.

वॉर्नर-फिंच के नाबाद शतकों से ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 10 विकेट से रौंदा

बकौल फिंच, ‘मुझे लगता है कि बीच के ओवरों में हमारे गेंदबाजों ने जिस तरह से वापसी की उसने हमारी जीत में अहम भूमिका निभाई. केएल राहुल और शिखर धवन जिस तरह से बल्लेबाजी कर रहे थे, उससे भारत बड़ा स्कोर कर सकता था. हमने जिस तरह से वापसी की, उस पर गर्व है.’

‘भारत को उसके घर में हराना विशेष अहसास’

फिंच ने कहा कि भारत को भारत में हराने का अहसास अलग होता है. ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ने कहा, ‘मुझे लगता है कि हम फील्डिंग में और सुधार कर सकते हैं. मैदान थोड़ा गीला था. जब भी आप भारत को भारत में हराते हैं तो यह विशेष अहसास होता है.’

‘वॉर्नर एक शानदार खिलाड़ी हैं’

डेविड वार्नर के बारे में कप्तान ने कहा, ‘वह शानदार खिलाड़ी हैं. वह लंबे समय से रुक नहीं रहे हैं. यह उनका 18वां शतक था, 10 शतक तो उन्होंने बीते दो-तीन साल में लगाए हैं.’

‘वापसी का माद्दा है भारतीय टीम में’

फिंच ने कहा कि भारतीय टीम वापसी का दम रखती है. उन्होंने कहा, ‘भारत वापसी करेगा क्योंकि उनके पास सर्वकालिक महान खिलाड़ियों में से कुछ खिलाड़ी हैं. इसलिए हमें अपने खेल के शीर्ष पर रहना होगा.’