भारतीय क्रिकेट टीम और श्रीलंका के बीच 3 मैचों की सीरीज का पहला टी-20 मुकाबला रविवार को गुवाहाटी के बारसापारा स्टेडियम में खेला जाएगा. इस मैच में सबकी निगाहें तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और सलामी बल्लेबाज शिखर धवन पर लगी होंगी. दोनों खिलाड़ी चोट से उबरने के बाद वापसी कर रहे हैं.

4 महीने बाद बुमराह की हो रही वापसी

पीठ के स्ट्रेस फ्रेक्चर के कारण 4 महीने तक बाहर रहे बुमराह टीम इंडिया के लिए काफी महत्वपूर्ण हैं और इस साल होने वाले टी-20 विश्व कप को देखते हुए उन्हें सतर्कता के साथ इस्तेमाल किया जा रहा है.

516 मिनट तक बल्लेबाजी कर मार्नस लाबुशेन ने लगाई रिकॉर्ड्स की झड़ी, साल 2020 का स्वागत डबल सेंचुरी से किया

बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली के हस्तक्षेप के बाद उन्हें गुजरात के लिए घरेलू प्रथम श्रेणी मैच के लिए भी छूट दे दी गई थी. ऐसा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर वापसी में उनके कार्यभार को ध्यान में रखते हुए किया गया.

वर्ष 2019 में जहां 50 ओवर के प्रारूप पर ध्यान लगा था तो वहीं मौजूदा साल में टी-20 अंतरराष्ट्रीय पर ध्यान लगाया जाएगा. अक्टूबर में पर्थ में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी-20 विश्व कप अभियान शुरू करने से पहले भारतीय टीम इसी मुहिम में करीब 15 टी-20 मैच खेलेगी.

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के समाप्त होने तक टीम में जगह बनाने वाले खिलाड़ियों के स्थान स्पष्ट होने की संभावना नहीं है. लेकिन मौजूदा कोच रवि शास्त्री और कप्तान विराट कोहली इस मौजूदा सीरीज में सभी के प्रदर्शन पर नजर लगाए होंगे.

बुमराह के साथ सैनी और ठाकुर होंगे टीम में

भारतीय टीम साथ ही यह भी देखना चाहेगी कि मुख्य तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी (आराम दिया गया), दीपक चाहर (स्ट्रेस फ्रेक्चर) और भुवनेश्वर कुमार (स्पोर्ट्स हर्निया) की अनुपस्थिति नवदीप सैनी और शार्दुल ठाकुर डेथ ओवरों में बुमराह के साथ दबाव का सामना किस तरह करते हैं.

वाशिंगटन सुंदर भी ऐसा प्रदर्शन करना चाहेंगे कि यह सुनिश्चित हो जाए कि किसी भी समय कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल में से अंतिम एकादश में किसी एक का ही चयन हो.शिवम दुबे निश्चित रूप से ऊंचे शॉ लगाते हैं लेकिन यह देखना होगा कि उनकी ‘सीम अप’ वाली गेंद सपाट पिच कैसा प्रदर्शन करती है.

रिषभ पंत और संजू सैमसन पर होगी नजर 

सबसे अहम सवाल रिषभ पंत का प्रदर्शन है क्योंकि संजू सैमसन पहले ही छह टी20 मैचों में बेंच पर रहे और महेंद्र सिंह धोनी की अनुपस्थिति से चीजें थोड़ी अस्थिर हैं.

शिखर धवन के लिए सीरीज अहम

शिखर धवन के लिए भी यह सीरीज महत्वपूर्ण है जो टीम के घुटने की चोट के बाद वापसी कर रहे हैं. वह उप-कप्तान रोहित शर्मा की अनुपस्थिति में प्रभावित करने की कोशिश करेंगे क्योंकि दूसरे छोर पर लोकेश राहुल भी शानदार फार्म में चल रहे हैं.

कल एक और रिकॉर्ड होगा ‘किंग’ कोहली के नाम! बुमराह-चहल के पास भी इतिहास बनाने का मौका

प्रतिस्पर्धी क्रिकेट में वापसी में दिल्ली के बाएं हाथ के खिलाड़ी ने रणजी ट्रॉफी मैच में हैदराबाद के खिलाफ 140 रन बनाए. उन्होंने 2019 में टी20 मैचों की 12 पारियों में 272 रन बनाए हैं.

लंबे समय बाद मैथ्यूज की वापसी

श्रीलंकाई टीम पूर्व कप्तान एंजेलो मैथ्यूज की वापसी से भी काफी उम्मीद लगाए होगी जिन्होंने अंतिम बार अगस्त 2018 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ एक टी -20 मैच खेला था.

कुसल परेरा पर होगी नजर

श्रीलंका को अपनी अंतिम टी-20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज में ऑस्ट्रेलिया में 0-3 की शिकस्त झेलनी पड़ी क्योंकि उनके बल्लेबाजों का प्रदर्शन लचर रहा था और उनके प्रदर्शन पर सभी की निगाहें लगी होंगी. टीम कुसल परेरा पर बहुत निर्भर है जिन्होंने अक्टूबर-नवंबर में ऑस्ट्रेलिया में तीन मैचों में 100 रन बनाए थे.

श्रीलंका के खिलाफ सीरीज संपन्न होने के बाद टीम इंडिया अपने घर में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 3 मैचों की वनडे सीरीज खेलेगी. इसके बाद भारतीय टीम न्यूजीलैंड दौरे के लिए रवाना होगी.

इनमें से चुनी जाएंगी टीमें:

भारत:

विराट कोहली (कप्तान), शिखर धवन, लोकेश राहुल, श्रेयस अय्यर, मनीष पांडे, संजू सैमसन, रिषभ पंत (विकेटकीपर), शिवम दुबे, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, रविंद्र जडेजा, जसप्रीत बुमराह, शार्दुल ठाकुर, नवदीप सैनी और वाशिंगटन सुंदर.

श्रीलंका:

लसिथ मलिंगा (कप्तान), धनुष्का गुणतिलका, अविष्का फर्नांडो, एंजेलो मैथ्यूज, दासुन शनाका, कुसल परेरा, निरोशन डिकवेला, धनंजय डि सिल्वा, इसुरु उडाना, भानुका राजपक्षे, ओशदा फर्नांडो, वानिंदु हसरंगा, लाहिरु कुमारा, कुसल मेंडिस, लक्षण संदाकन और कसुन राजिता.