श्रीलंकाई क्रिकेट टीम ने इंदौर के होल्कर स्टेडियम में जारी 3 मैचों की सीरीज के दूसरे टी-20 मैच में भारत के सामने 143 रन का लक्ष्य रखा है. मेहमान श्रीलंका की टीम ने निर्धारित 20 ओवर में 9 विकेट पर 142 रन ही बना सकी. इससे पहले भारत ने टॉस जीतकर श्रीलंका को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया. श्रीलंका की ओर से दनुष्का गुणाथिलका और अविष्का फर्नांडो ने पारी की शुरुआत की.

अविष्का ने 16 गेंदों पर 22 रन की अपनी पारी में 5 चौके जरूर लगाए लेकिन स्पिनर वाशिंगटन सुंदर की गेंद पर बड़ा शॉट खेलने की कोशिश में वह मिडऑफ पर नवदीप सैनी को कैच थमाकर चलते बने. उस समय श्रीलंका का कुल स्कोर 38 रन था.

गुणाथिलका को भारतीय गेंदबाजों ने खुलकर नहीं खेलने दिया. 21 गेंदों पर 3 चौकों की मदद से 20 रन बनाने वाले इस बल्लेबाज को पेसर सैनी ने बोल्ड कर श्रीलंका को दूसरा झटका दिया.

ओशाडा फर्नांडो से श्रीलंका को काफी उम्मीदें थीं लेकिन उन्होंने भी निराश किया. फर्नांडो को 10 रन के निजी स्कोर पर चाइनामैन कुलदीप यादव की गेंद पर रिषभ पंत ने स्टंप आउट किया.

कुशल परेरा के रूप में श्रीलंका ने अपना चौथा विकेट गंवाया जिन्हें कुलदीप की गेंद पर शिखर धवन ने बाउंड्री के नजदीक लपका. परेरा ने 28 गेंदों पर 3 छक्कें की मदद से 34 रन बनाए.

भानुका राजपक्षा को पंत के हाथों कैच कराकर सैनी ने अपना दूसरा शिकार किया. राजपक्षा 12 गेंदों पर 9 रन बनाकर पवेलियन लौटे. दासुन शनाका को जसप्रीत बुमराह ने बोल्ड कर श्रीलंका को छठा झटका दिया.

तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर ने धनंजय डी सिल्वा को शिवम दूबे के हाथों कैच कराया. डीसिल्वा ने 13 गेंदों पर 17 रन बनाए जिसमें दो चौके शामिल थे. इशरू उडाना को एक रन के निजी योग पर शार्दुल ने सैनी के हाथों लपकवाया.

अगली गेंद पर शार्दुल ने श्रीलंकाई कप्तान लसिथ मलिंगा को कुलदीप के हाथों कैच कराया. मलिंगा खाता भी नहीं खोल सके. वानिंडु हसारांगा 16 और लाहिरू कुमारा खाता खोले बगैर नाबाद लौटे.

भारत की ओर से शार्दुल ने सर्वाधिक तीन जबकि नवदीप और कुलदीप ने दो-दो विकेट चटकाए. बुमराह और सुंदर के खाते में एक-एक विकेट गया.