भारतीय टीम की स्टायलिश लेफ्टहैंडर ओपनिंग बल्लेबाज स्मृति मंधाना (Smriti Mandhana) ने अपने टेस्ट करियर का पहला शतक जड़ दिया है. ऑस्ट्रेलिया के कैरारा ओवल, क्वींसलैंड के मैदान पर खेले जा रहे पिंक बॉल टेस्ट (Pink Ball Test) में भारत ने स्मृति मंधाना के इस शतक की बदौलत अपनी स्थिति मजबूत कर ली है. अपने पहले डे-नाइट टेस्ट (INDw vs AUSw Day Night Test) में शतक जड़ने वालीं अब वह दूसरी भारतीय बल्लेबाज हैं. उनसे पहले भारतीय पुरुष टीम के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) बांग्लादेश के खिलाफ अपने पहले पिंक बॉल टेस्ट में शतक जड़ने का कारनामा किया था.

मंधाना के टेस्ट करियर का भी यह पहला शतक है. अपने करियर का चौथा टेस्ट खेल रही मंधाना ने 170 बॉल का सामना कर यह शतक पूरा किया. अपनी इस पारी में उन्होंने 18 चौके जड़कर यह उपलब्धि अपने नाम की. भारतीय पारी के 51.5 ओवर में उन्होंने एलिस पैरी की गेंद पर मिडविकेट पर चौका जड़कर यह ऐतिहासिक शतक पूरा किया.

https://twitter.com/ICC/status/1443796479978577920?s=20

मंधाना अभी 101 रन बनाकर पूनम राउत के साथ क्रीज पर डटी हुई हैं और भारत के लिए यहां एक मजबूत स्कोर खड़ा करने की ओर अग्रसर हैं. भारत ने 52 ओवर में 157 रन जोड़ लिए हैं. हालांकि इस बीच वह भाग्यशाली भी रहीं दूसरे दिन के दूसरे ओवर में वह कैच आउट हो गई थीं, कंगारू टीम अभी जश्न मना ही रही थी कि अंपायरों ने उसका मजा किरकिरा कर दिया क्योंकि एलिस पैरी ने वह नोबॉल फेंकी थी.

https://twitter.com/BCCIWomen/status/1443796797596442626?s=20

मंधाना मैच के पहले दिन 80 रन बनाकर नाबाद लौटी थीं, वह अपना यह शतक मैच के पहले दिन पूरा कर लेतीं लेकिन बारिश ने ऐसा होने नहीं दिया. हालांकि दूसरे दिन का जब खेल शुरू हुआ तो उन्होंने उसी अंदाज में अपनी पारी को आगे बढ़ाया, जिस अंदाज में उन्होंने गुरुवार को इसे छोड़ा था.

बता दें इस मैच में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर भारत को पहले बल्लेबाजी का निमंत्रण दिया था. हालांकि भारत की ओपनिंग जोड़ी ने ही उसके इस फैसले को गलत साबित कर दिया था. मंधाना ने शेफाली वर्मा (Shafali Verma) के साथ पहले विकेट के लिए 93 रन की साझेदारी की. शेफाली ने 31 रन बनाए. इसके बाद पूनम राउत उनका बेहतरीन साथ निभा रही हैं.