रोहित शर्मा  © AFP
रोहित शर्मा © AFP

मुंबई इंडियन्स के कप्तान रोहित शर्मा ने इंडियन प्रीमियर लीग में सनराइजर्स हैदराबाद पर चार विकेट की जीत का श्रेय गेंदबाजों को दिया। जसप्रीत बुमराह(24 रन पर तीन विकेट) और हरभजन सिंह(23 रन पर दो विकेट) की उम्दा गेंदबाजी के कारण डेविड वार्नर(49) और शिखर धवन(48) के बीच पहले विकेट की 81 रन की साझेदारी के बावजूद हैदराबाद की टीम आठ विकेट पर 158 रन ही बना सकी। इसके जवाब में मुंबई ने नितीश राणा(36 गेंद में 45 रन), पार्थिव पटेल(24 गेंद में 39 रन) और कृणाल पंड्या(19 गेंद में 37) रन की पारियों की बदौलत आठ गेंद शेष रहते छह विकेट पर 159 रन बनाकर जीत हासिल की।

रोहित ने मैच के बाद कहा, “हमारे लिए यह अपनी प्रतिभा दिखाने का शानदार मंच था। हमें पता है कि उनके शीर्ष चार बल्लेबाज काफी अच्छे हैं। हमारे गेंदबाजों को काफी श्रेय जाता है।” उन्होंने कहा, “उन्हें 158 रन तक रोकना काफी अच्छा प्रयास था। गेंदबाजों ने रणनीति को काफी अच्छी तरह अमलीजामा पहनाया जिससे मेरा काम आसान हो गया।”

लक्ष्य का पीछा करने उतरे मुंबई के लिए पार्थिव और जोस बटलर(14) की सलामी जोड़ी ने तेजी से रन जोड़े। बटलर ने भुवनेश्वर पर चौके से खाता खोलने के बाद आशीष नेहरा पर भी चौका मारा। पार्थिव ने भी नेहरा के ओवर के दो चौके जड़े। नेहरा ने हालांकि अगले ओवर में बटलर को बोल्ड कर दिया। पार्थिव ने नेहरा के इस ओवर में भी दो चौके मारे। आईपीएल में पहली बार खेल रहे लेग स्पिनर राशिद खान ने एक बार फिर प्रभावी गेंदबाजी करते हुए मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा(04) को पगबाधा आउट करके टीम का स्कोर दो विकेट पर 41 रन किया।

फुल स्कोरकार्ड: सनराइजर्स हैदराबाद बनाम मुंबई इंडियंस फुल स्कोरकार्ड जानने के लिए क्लिक करें…

मुंबई ने पावर प्ले में दो विकेट पर 61 रन बनाए। पार्थिव इसके बाद दीपक हुड्डा की गेंद पर भुवनेश्वर को कैच दे बैठे। उन्होंने सात चौके मारे। राणा ने हुड्डा के इसी ओवर में छक्का जड़ा जबकि कीरोन पोलार्ड(11) ने मुस्तफिजुर पर छक्के के साथ 13वें ओवर में टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया लेकिन भुवनेश्वर की गेंद पर धवन को कैच दे बैठे। क्रुणाल ने राशिद पर छक्के के साथ दबाव कुछ कम किया। उन्होंने नेहरा की लगातार गेंदों पर छक्के और चौके के साथ गेंद और रन के बीच के अंतर को कम किया। टीम को अंतिम चार ओवर में जीत के लिए 25 रन की दरकार थी।

क्रुणाल ने बेन कटिंग के ओवर में एक छक्का और दो चौकों के साथ टीम को लक्ष्य के करीब पहुंचाया लेकिन अगले ओवर में भुवनेश्वर की गेंद पर पवेलियन लौट गए। उन्होंने अपनी पारी में तीन चौके और तीन छक्के मारे। इसी ओवर में राणा ने चौका जड़ा लेकिन अगली गेंद पर बोल्ड हो गए। उन्होंने तीन चौके और दो छक्के जड़े।

मुंबई को हालांकि अंतिम दो ओवर में जीत के लिए सिर्फ चार रन चाहिए थे और उसे हरभजन सिंह(नाबाद 03) और हार्दिक पंड्या(नाबाद 02) ने लक्ष्य तक पहुंचा दिया।