एबी डिविलियर्स © BCCI
एबी डिविलियर्स © BCCI

एबी डिविलियर्स ने आखिरकार रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम में वापसी की और क्या शानदार वापसी की। डिविलियर्स ने किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ 46 गेंदों में 89 रनों की धमाकेदार पारी से आईपीएल-10 का आगाज कर दिया है और सभी गेंदबाजों को सचेत कर दिया है। चोट के कारण शुरुआती मैचों में नहीं खेल पाए डिविलियर्स को बैंगलोर ने पंजाब के खिलाफ क्रिस गेल की जगह टीम में शामिल किया। जब डिविलियर्स तीसरे नंबर पर खेलने उतरे तो टीम के हालात अच्छे नहीं थे और टीम लगातार विकेट गंवा रही थी। लेकिन ऐसे हालत में भी डिविलियर्स ने शानदार खेल दिखाकर बताया कि दुनिया में उन्हें क्यों सबसे बेहतरीन बल्लेबाज कहा जाता है। किंग्स इलेवन पंजाब बनाम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लाइव ब्लॉग को पढ़ने के लिए क्लिक करें

लेकिन डिविलियर्स तो कुछ और ही सोच कर आए थे। डिविलियर्स ने आते ही एक चौका और एक छक्का लगाकर अपने इरादे जाहिर कर दिए। हालांकि लगातार विकेट गिरने के कारण डिविलियर्स ने बीच में अपने गेयर बदले, लेकिन उन्हें बिन्नी का अच्छा साथ मिला और इसके बाद उन्होंने अपना उग्र रूप दिखाया। डिविलियर्स ने किसी भी गेंदबाज को नहीं बख्शा और हर गेंदबाज की गेंदों को बाउंड्री के बाहर भेजते रहे। डिविलियर्स ने 34 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा किया। अर्धशतक लगाने के बाद तो डिविलियर्स और खतरनाक हो गए। डिविलियर्स ने 19वें ओवर में 2 छक्के और 1 चौका जड़कर ओवर में कुल 19 रन बटोरे। वहीं आखिरी ओवर में भी डिविलियर्स ने 2 छक्के ठोके और अंत में 46 गेंदों में 89 रन बनाकर नाबाद पवेलियन लौटे। डिविलियर्स ने अपनी पारी में 3 चौके और 9 शानदार छक्के लगाए। इसके साथ ही डिविलियर्स ने सभी गेंदबाजों के लिए खतरे की घंटी बजा दी है।