मार्लोन सैमुअल्स © AFP
मार्लोन सैमुअल्स © AFP

वेस्टइंडीज के बल्लेबाज मार्लोन सैमुअल्स अंततः इंडियन प्रीमियर लीग में शामिल हो गए हैं। इस साल बैंगलोर में हुई नीलामी में नहीं बिकने वाले सैमुअल्स को दिल्ली डेयरडेविल्स टीम ने क्विंटन डी कॉक की भरपाई के तौर पर टीम में शामिल किया है। दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज टूर्नामेंट के शुरू होने से पहले ही अंगूठे में चोट लगने के कारण घायल हो गए थे। उनके हमवतन जेपी डुमिनी ने भी व्यक्तिगत कारणों के चलते इस सीजन में न खेलने के लिए अपना नाम वापस ले लिया था। लेकिन, चौंकाने वाली बात ये है कि उनकी भरपाई करने के लिए दिल्ली डेरडेविल्स(डीडी) ने अबतक कोई खिलाड़ी नहीं खरीदा है। अब तक डीडी की टीम ने कुछ खास बल्लेबाजी नहीं की है, जाहिर है कि बल्लेबाजी को मजबूती देने के लिए सैमुअल्स को टीम में शामिल किया गया है।

[ये भी पढ़ें: गुजरात लायंस बनाम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर(प्रिव्यू): दोनों टीमों के पास जीत ही एकमात्र रास्ता]

सैमुअल्स पिछले साल वर्ल्ड टी20 के फाइनल में मैन ऑफ द मैच रहे थे। और वह आईपीएल में नए तो बिल्कुल भी नहीं हैं। इसके पहले वह अब पुणे वॉरियर्स इंडिया की तरफ से खेल चुके हैं। 36 साल के बल्लेबाज सैमुअल्स अबतक 71 टेस्ट, 187 वनडे और 55 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके हैं। सैमुअल्स टॉप ऑर्डर बल्लेबाज तो हैं ही, साथ ही अच्छी खासी ऑफ स्पिन भी फेंक लेते हैं। हाल ही में सैमुअल्स पाकिस्तान सुपर लीग जीतने वाली पेशावर जालमी टीम के वह सदस्य थे। इसकी खबर ट्विटर पर दिल्ली डेरडेविल्स के सीईओ हेमंत दुआ ने दी। दिल्ली डेयरडेविल्स को अगला मैच, अंक तालिका में शीर्ष पर चल रही कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ शुक्रवार को ईडेन गार्डन में खेलना है। 6 मैचों में दो जीत के साथ वे अभी छठवे नंबर पर हैं। ऐसे में उन्हें उम्मीद होगी कि सैमुअल्स के अनुभव से वह अपनी जीत की राह पर लौट आएं।