महेंद्र सिंह धोनी © AFP
महेंद्र सिंह धोनी © AFP

आईपीएल-10 के दूसरे मुकाबले में राइजिंग पुणे सुपरजाइंट ने मुंबई इंडियंस को रोमांचक मुकाबले में 7 विकेट से मात दी। लेकिन मैच के बाद टीम के स्टार खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी को आईपीएल आचार संहिता के उल्लंघन का दोषी पाया गया। जिसके बाद धोनी को मैच रेफरी ने फटकार लगाई। एक आधिकारिक प्रेस नोट के बाद खबर का पता चला। लेकिन इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई कि आखिर धोनी को फटकार क्यों लगाई गई है। धोनी को (आर्टिकल 2.1.1) के लेवल 1 के तहत दोषी पाया गया है। ये भी पढ़ें: प्रिव्यू: केकेआर के खिलाफ अपने जीत के सिलसिले को बरकरार रखने के लिए उतरेगी गुजरात लायंस

खबरों की मानें तो धोनी पर अंपायर के फैसले के बाद डीआरएस का इशारा करने पर ये कार्रवाई की गई है। दरअसल, पारी के 15वें ओवर में बल्लेबाज काइरॉन पोलार्ड के खिलाफ LBW की जोरदार अपील की गई, जिसे अंपायर ने ठुकरा दिया। लेकिन इसके बाद धोनी ने विकेट के पीछे से डीआरएस का इशारा किया। हालांकि धोनी ने ये इशारा मजाक में किया था, और धोनी के ऐसा करने के बाद हर कोई हंस पड़ा था। आपको बता दें कि धोनी ना तो टीम के कप्तान हैं और ना ही आईपीएल में डिसीजन रिव्यू सिस्टम (DRS) का उपयोग होता है, और यही कारण माना जा रहा है कि धोनी को आईपीएल आचार संहिता का उल्लंघन का दोषी पाया गया है और उनको फटकार लगाई गई है। दूसरे मुकाबले में पुणे ने मुंबई इंडियंस को आखिरी ओवर में हराकर अपने अभियान की शुरुआत जीत के साथ की है।