राइजिंग पुणे सुपरजायंट  © BCCI
राइजिंग पुणे सुपरजायंट © BCCI

भले ही पुणे में 27 अप्रैल को खेले गए एक दिलचस्प मुकाबले में राइजिंग पुणे सुपरजायंट को कोलकाता नाइटराइडर्स के हाथों 7 विकेट से हार का सामना करना पड़ा हो। लेकिन इस बीच एमएस धोनी ने कमाल कर दिया और जता दिया कि भले ही वे 35 साल के हो चले हों लेकिन मैदान में वह कमाल करना आज भी नहीं भूले हैं। उन्होंने कोलकाता की पारी के तीसरे ओवर में जिस तरह से तूफानी तेवर में नजर आ रहे सुनील नरेन को रन आउट किया वह अंदाज शानदार था। ये बात कोलकाता की पारी के तीसरे ओवर की है। नरेन जो तूफानी अंदाज में बल्लेबाजी करते हुए 11 गेंदों में 16 रन बनाकर खेल रहे थे। वह नॉन स्ट्राइकिंग छोर पर खड़े हुए थे। ओवर की तीसरी गेंद स्पिनर वॉशिंगटन सुंदर, गौतम गंभीर के लिए लेकर आए।

गंभीर ने गेंद को हल्के हाथों से शॉर्ट फाइन लेग की दिशा में खेला और रन लेने को दौड़ पड़े। लेकिन इसी बीच शार्दुल ठाकुर तेजी से गेंद पर झपटे और एक अंडरआर्म थ्रो धोनी की दिशा में फेंका। धोनी ने अपने स्पेशल अंदाज में गेंद को स्टंप्स पर लगने दिया और इस तरह धोनी ने शानदार रन आउट मुकम्मल किया। धोनी अक्सर ही इस तरह के रन आउट करते रहते हैं। साल 2016 वर्ल्ड टी20 में बांग्लादेश के खिलाफ भी धोनी ने शानदार रन आउट किया था, जिसके बाद उनको लेकर खासी चर्चाएं हुई थीं। ये भी पढ़ें-आईपीएल 10, मैच 30, राइजिंग पुणे सुपरजायंट बनाम कोलकाता नाइट राइडर्स का स्कोरकार्ड

एमएस धोनी ने बल्ले से भी दिखाए हाथ: पहले बल्लेबाजी करने उतरी राइजिंग पुणे सुपरजायंट का दूसरा विकेट 14वें ओवर में अजिंक्य रहाणे के रूप में (13.3 ओवर) में गिरा। इसके बाद ही पूरा स्टेडियम धोनी के नाम से गुंजायमान हो गया। धोनी ने अपने चाहने वालों को निराश नहीं किया। आते ही उन्होंने अगले ओवर में पीयूष चावला की दूसरी गेंद पर मिड विकेट का चौका और तीसरी गेंद पर गेंदबाज के सिर के ऊपर से स्ट्रेट का छक्का मारा। धोनी यहीं नहीं रुके और अगले ओवर में कुलदीप यादव की गेंद पर उन्होंने मिड विकेट के ऊपर से गेंद को छह रनों के लिए मार दिया। धोनी 18वें ओवर में कुलदीप यादव की गेंद पर स्टंप्ड आउट हुए। उन्होंने आउट होने से पहले 11 गेंदों में तूफानी 23 रन बनाए।