रोहित शर्मा © BCCI
रोहित शर्मा © BCCI

इंडियन प्रीमियर लीग के पहले क्वालीफायर में भले ही मुंबई इडियंस ने राइजिंग पुणे सुपरजायंट के आगे घुटने टेक दिए लेकिन उसके कप्तान रोहित शर्मा हार से टूटे नहीं हैं बल्कि उन्होंने अब खिताब जीतने का प्रण ही ले लिया है। कोलकाता नाइट राइडर्स से दूसरे क्वालीफायर में भिड़ने से पहले मुंबई के कप्तान ने साल 2013 में अपनी खिताबी जीत को याद किया। मुंबई इंडियंस के सोशल मीडिया अकाउंट पर रोहित शर्मा ने कहा, ‘साल 2013 में भी हमारी टीम के साथ यही हुआ था। मुंबई इंडियंस पहला क्वालीफायर हार गई थी और फिर उसके बाद हमने खिताब पर कब्जा किया था।’

साफ है मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा को अपनी 2013 की खिताबी जीत से प्रेरणा मिली है। 2013 में मुंबई इंडियंस ने पहले क्वालीफायर मैच में चेन्नई सुपरकिंग्स से 48 रनों से मैच गंवाया था, लेकिन दूसरे क्वालीफायर में उसने जबर्दस्त पलटवार करते हुए राजस्थान को 4 विकेट से हराया और फिर उसके बाद फाइनल में मुंबई ने चेन्नई को 23 रन से हराकर खिताब अपने नाम किया था। [ये भी पढ़ें: कोलकाता नाइटराइडर्स बनाम मुंबई इंडियंस, क्वालीफायर 2, (प्रिव्यू): दोनों टीमों की निगाहें फाइनल के टिकट पर]

आईपीएल के दसवें सीजन में भी मुंबई के साथ कुछ ऐसा ही हुआ है। पहले क्वालीफायर में उसे राइजिंग पुणे सुपरजायंट ने मात दी है और अब उसे फाइनल में पहुंचने के लिए गौतम गंभीर की सेना कोलकाता नाइट राइडर्स को हराना है। मुकाबले से पहले रोहित शर्मा ने कहा, ‘हमारा मकसद मैदान पर अच्छा खेल दिखाना है। कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ हम पूरे आत्मविश्वास के साथ मैदान पर उतरेंगे। हमने टूर्नामेंट में उन्हें दोनों मुकाबले में दी है। हम अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करेंगे।’

लीग स्टेज के दौरान मुंबई इंडियंस ने कोलकाता नाइट राइडर्स को दोनों मुकाबले में मात दी थी। मुंबई ने कोलकाता को उसके घरेलू मैदान ईडन गार्डन्स में 9 रन से हराया था तो वहीं वानखेड़े में मुंबई ने कोलकाता को 4 विकेट से मात दी थी। अब देखना ये है कि मुंबई की टीम साल 2013 का इतिहास और कोलकाता के खिलाफ अपनी मौजूदा फॉर्म को दोहरा पाती है या नहीं।