क्विंटन डी कॉक © PTI
क्विंटन डी कॉक © PTI

दिल्ली डेयरडेविल्स के मेंटर राहुल द्रविड़ का मानना है कि आगामी आईपीएल सीजन में उन्हें क्विंटन डी कॉक और जेपी ड्यूमिनी की कमी साफतौर पर खलेगी। इन दोनों के ना होने से टीम का संतुलन डगमगाएगा। आपको बता दें कि ड्यूमिनी ने निजी कारणों से आईपीएल-10 से नाम वापस ले लिया है, तो वहीं डीकॉक न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के दौरान चोटिल हो गए हैं। द्रविड़ ने कहा, ”निश्चित तौर पर डीकॉक और ड्यूमिनी का चोटिल होना टीम के लिए बड़ा झटका है, अगर ऐसा नीलामी से पहले होता तो ये हमारे लिए बेहतर होता कि हम चीजों को और बेहतर तरीके से संभाल पाते। लेकिन ये सब खेल का हिस्सा होता है और हमें इससे बाहर निकलना होगा। हमारे पास सैम बिलिंग्स जैसे प्रतिभावान खिलाड़ी हैं जो कि अच्छा कर सकते हैं।” ये भी पढ़ें: युवा खिलाड़ियों के लिए आईपीएल बेहतरीन मंच है: बासिल थंपी

द्रविड़ को अब अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों से ज्यादा उम्मीदें हैं। दिल्ली की टीम में कोरे एंडरसन, श्रीलंका के कप्तान एंजेला मैथ्यूस जैसे खिलाड़ी हैं जो कि ड्यूमिनी और डीकॉक की जगह भर सकते हैं। लेकिन आपको बता दें कि डिकॉक पिछले सीजन में दिल्ली की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज थे। द्रविड़ ने कहा, ”हमारे पास कोरे एंडरसन, एंजेला मैथ्यूस जैसे अच्छे ऑलराउंडर खिलाड़ी हैं। हमें उम्मीद करनी होगी कि ये खिलाड़ी बेहतरीन प्रदर्शन करें। जिससे की जेपी की कमी महसूस ना हो। लेकिन हां, डीकॉक हमारे लिए बहुत बड़ा झटका है, क्योंकि उसने हमारे लिए काफी मैच खेले हैं और हमारी टीम का मुख्य बल्लेबाज था। हमने उसे इस सीजन के लिए तैयार किया था, लेकिन जिंदगी इसी तरह चलती है और आप इसपर कुछ नहीं कर सकते।” द्रविड़ को उम्मीद है कि भारतीय घरेलू खिलाड़ी भी अपने प्रदर्शन से टीम को फायदा पहुंचाएंगे। द्रविड़ ने कहा, ”हमारे पास करुण नायर, संजू सैमसन, श्रेयस अय्यर, आदित्य तरे और ऋषभ पंत जैसे खिलाड़ी हैं और हमें उम्मीद है कि ये सब मौका मिलने पर खुद को साबित करेंगे।”