बेन स्टोक्स © BCCI
बेन स्टोक्स © BCCI

मुंबई इंडियंस के पूर्व कोच और ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पॉन्टिंग ने इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड के अपने खिलाड़ियों को देश की बजाए आईपीएल में खेलने की इजाजत देने पर सवाल खड़े किए हैं। रिकी पॉन्टिंग ने हैरानी जताते हुए कहा है कि आखिर कैसे इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने बेन स्टोक्स, जोस बटलर, क्रिस वोक्स को आईपीएल में खेलते रहने की मंजूरी दे दी जबकि उसकी टीम को आयरलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज खेलनी थी।

पॉन्टिंग ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को दिए इंटरव्यू में कहा, ‘मुझे ये सब देखकर अच्छा नहीं लगा मैं नहीं चाहूंगा कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी कभी ऐसा करें। अगर आप इंग्लैंड के इतिहास को देखें तो आप पाएंगे कि इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड अपने खिलाड़ियों को आईपीएल में आसानी से नहीं भेजता था उन्होंने कभी अपने खिलाड़ियों को आईपीएल में पूरे सीजन खेलने की आजादी नहीं दी। ऐसा पहली बार हुआ है कि उन्होंने खिलाड़ियों को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट की बजाए आईपीएल खेलने के लिए छोड़ दिया। ‘

पॉन्टिंग ने आगे कहा, ‘अगर इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड 6 महीने पहले ही स्टोक्स,वोक्स और बटलर को आयरलैंड सीरीज से बाहर रखने का ऐलान कर देता तो बात समझ में आती लेकिन जब मैं आयरलैंड और इंग्लैंड का वनडे मैच देख रहा था और मैंने पाया कि इंग्लैंड के अहम खिलाड़ी भारत में आईपीएल खेल रहे हैं तो मुझे अच्छा नहीं लगा। मैं थोड़ा पुराने विचारों का हूं लेकिन देश के लिए खेलने से बढ़कर और कुछ नहीं होता।’ ये भी पढ़ें-प्लेऑफ के पहले पुणे सुपरजायंट को लगा तगड़ा झटका, स्टोक्स लौटे स्वदेश

वैसे आपको बता दें किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ मैच के बाद स्टोक्स और बटलर वापस लौट गए हैं। दरअसल चैंपियंस ट्रॉफी की तैयारी के लिए इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने स्पेन में कैंप लगाया है जिसके चलते स्टोक्स और बटलर को आईपीएल क्वालिफायर से पहले इंग्लैंड वापस लौटना पड़ा। इन दोनों खिलाड़ियों को 1 जून से इंग्लैंड में हो रही चैंपियंस ट्रॉफी की तैयारी करनी है और साथ ही इंग्लैंड के लिए ये दोनों खिलाड़ी द.अफ्रीका के खिलाफ 3 वनडे मैचों की सीरीज भी खेलेंगे।