सुरेश रैना © AFP
सुरेश रैना © AFP

मुंबई इंडियंस के खिलाफ हुआ मैच गुजरात लायंस के लिए बहुत जरूरी था क्योंकि गुजरात की टीम 3 में से 2 मैच हार गई थी, लेकिन मुंबई के खिलाफ भी गुजरात लायंस की टीम को निराशा ही मिली और वो 6 विकेट से मैच हार गई। इस हार के बाद कप्तान सुरेश रैना ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि गुजरात की टीम गेंदबाजी बेहद कमजोर है जिसमें सुधार बेहद जरूरी है। रैना ने कहा ‘पिछले सीजन के मुकाबले इस बार हमारी गेंदबाजी में विविधता की कमी है। हमारे पास जो भी विकल्प हैं हम उसका इस्तेमाल कर रहे हैं। अभी भी टूर्नामेंट काफी बचा है, हमने 4 में से एक ही मैच जीता है तो अब हमें बहुत ही अच्छा खेल दिखाना होगा।’ 

गुजरात लायंस की गेंदबाजी ही नहीं उनकी फील्डिंग भी खासा खराब रही। गुजरात के खिलाड़ी जेसन रॉय ने मुंबई इंडियंस को मैच जिताने वाले बल्लेबाज नीतीश राणा का 9 रन पर कैच छोड़ा था जिसका खामियाजा रैना की टीम को भुगतना पड़ा। नीतीश राणा ने शानदार अर्धशतक लगाकर गुजरात लायंस की हार तय की। सुरेश रैना ने भी अपनी टीम की खराब फील्डिंग पर हार का ठीकरा फोड़ते हुए कहा ‘हमने अच्छा स्कोर खड़ा किया था लेकिन दूसरी पारी में पिच बल्लेबाजी के लिए अच्छी हो गई थी। नीतीश राणा ने भी अच्छी पारी खेली लेकिन कैच छूटने से हमारे हाथ से मैच फिसल गया। रोहित शर्मा और पोलार्ड ने अच्छी बल्लेबाजी की। हमने गेंदबाजी अच्छी की लेकिन हमें शुरुआत में विकेट लेने होंगे। हमारे पास 4 मैच और हैं अपनी गेंदबाजी को सुधारने के लिए हम पूरी कोशिश करेंगे।’ ये भी पढ़ें- आईपीएल 10, 16वां मैच, गुजरात लायंस बनाम मुंबई इंडियंस का स्कोरकार्ड

मुंबई इंडियंस के खिलाफ गुजरात लायंस की रणनीति में भी खासा खामी दिखाई दी। दूसरा विकेट गिरने के बाद गुजरात लायंस ने जेसन रॉय से पहले ईशान किशन को पिच पर उतार दिया जिन्होंने 14 गेंद में सिर्फ 11 रन ही बनाए। रैना ने अपनी इस रणनीति का बचाव किया और कहा ‘ईशान किशन को जेसन रॉय से ऊपर भेजने की वजह दाएं और बाएं हाथ के बल्लेबाज को क्रीज पर रखना था। हमने अच्छा स्कोर बनाया था, 177 रनों की चुनौती बड़ी थी, लेकिन बाद में पिच अच्छी हो गई और मुंबई ने बल्लेबाजी भी अच्छी की।’

रैना ने अगले मैच में वापसी करने का भरोसा जताया और कहा कि बैंगलोर के खिलाफ गुजरात की टीम अच्छा प्रदर्शन करने की कोशिश करेगी। ‘अगले मुकाबले में हमें बैंगलोर के खिलाफ अपने घरेलू मैदान पर अच्छा खेल दिखाना होगा। हमें अपने खेल में सुधार लाना ही होगा, खासतौर पर गेंदबाजी में सुधार जरूरी है। डी जे ब्रावो खेल नहीं रहे हैं, जडेजा टीम में आए हैं लेकिन हमें फिर भी एक ऐसे खिलाड़ी की जरूरत है आखिरी ओवरों में गेंदबाजी का अनुभव रखता हो।’