महेंद्र सिंह धोनी © AFP
महेंद्र सिंह धोनी © AFP

भले ही महेंद्र सिंह धोनी को आईपीएल-10 में राइजिंग पुणे सुपरजायंट की कप्तानी से हटा दिया गय हो। लेकिन पुणे टीम की सफलता के पीछे इस खिलाड़ी का बहुत बड़ा हाथ है। मुंबई के खिलाफ जब मैच रोमांचक स्थिति में पहुंच गया था और आखिरी ओवर में मुंबई को जीत के लिए 17 रनों की जरूरत थी। स्टीवन स्मिथ दौड़कर धोनी के पास गए और उनसे सलाह लेने लगे। दोनों के बीच काफी देर तक विचार-विमर्श हुआ और इसके बाद स्मिथ ने जयदेव उनादकत को गेंदबाजी में लगा दिया। ये भी पढ़ें: पुणे के विजयरथ को रोकने उतरेगी कोलकाता नाइट राइडर्स

इसके बाद आखिरी ओवर में पुणे जीत गया था और धोनी की सलाह एकबार फिर से टीम के काम आई। ये कोई पहला मौका नहीं है जब स्मिथ को धोनी से सलाह लेते देखा गया। बल्कि स्मिथ ऐसा अक्सर करते हैं। स्मिथ ने कहा था, ”मेरे पास सलाह लेने के लिए कई सारे खिलाड़ी हैं। लेकिन मैं ज्यादा विकल्प के बारे में नहीं सोचता, क्योंकि इससे मेरे अपने फैसले पर असर पड़ता है। मैं चीजों को साफ करने में विश्वास करता हूं। और अगर मुझे लगता है कि इस मुद्दे पर मुझ सलाह लेनी चाहिए तो मैं इससे परहेज नहीं करता।” साफ है स्मिथ ने मुंबई के खिलाफ भी आखिरी ओवर में धोनी से सलाह ली जो उनकी टीम के काम आई। इससे साफ जाहिर है कि भले ही धोनी ने कप्तानी छोड़ दी हो, लेकिन उनके अंदर अभी भी कप्तानी के गुण बाकी हैं।