भारतीय टीम © Getty Images
भारतीय टीम © Getty Images

आईपीएल-10 में मुंबई इंडियंस और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच खेले गए मुकाबले में खेल प्रेमियों की सांसें तब थम गईं जब भारत के दो दिग्गज खिलाड़ी रोहित शर्मा और युवराज सिंह चोटिल होने से बाल-बाल बच गए। प्रशंसकों की चिंता इसलिए और बढ़ गई थी, क्योंकि दोनों खिलाड़ियों को चैंपियंस ट्रॉफी के लिए भारतीय टीम में शामिल किया गया है। आइए आपको विस्तार से बताते हैं कि ये वाक्या आखिर घटा कैसे।

दरअसल, पहले बल्लेबाजी करने उतरी मुंबई इंडियंस की शुरुआत अच्छी नहीं रही और टीम के 2 विकेट जल्दी गिर गए। चौथे नंबर पर खेलने उतरे रोहित शर्मा अभी अपनी नजरें जमा ही रहे थे, कि मैच के सातवें ओवर में सिद्धार्थ कौल ने रोहित को तेज गति की बाउंसर फेंकी। इस गेंद पर रोहित पुल करना चाहते थे, लेकिन वो पूरी तरह से बीट हो गए और गेंद उनके हेलमेट में जाकर लगी। हालांकि रोहित भाग्यशाली रहे और उन्हें किसी भी तरह की चोट नहीं आई। लेकिन रीप्ले में रोहित को अपने सर पर हाथ फेरते साफ देखा जा सकता था। इस लम्हे को देखकर हर कोई एक पल के लिए सहम गया था। ये भी पढ़ें: पंजाब के खिलाफ आज फिर कोलकाता मारेगी बाजी?

मैच में ऐसा ही दूसरा पल भी आया जब भारत का एक और दिग्गज खिलाड़ी चोटिल होने से बाल-बाल बच गया। ये खिलाड़ी था भारतीय टीम का सिक्सर किंग युवराज सिंह। दरअसल, फील्डिंग के दौरान युवराज सिंह के उंगलियों में इतनी तेज गेंद लगी कि उन्हें मैदान से बाहर तक जाना पड़ गया। मुंबई की बल्लेबाजी के दौरान युवराज प्वॉइंट में फील्डिंग कर रहे थे, इसी दौरान रोहित शर्मा ने एक तेज कट शॉट खेला जिसको रोकने की कोशिश में युवराज सिंह के उंगलियों में चोट लग गई। चोट इतनी तेज थी कि युवराज अपनी उंगलियों को पकड़कर मैदान पर ही बैठ गए। तब हालात और बिगड़ गए जब युवराज को मैदान से बाहर तक जाना पड़ गया। हालांकि युवराज बाद में बल्लेबाजी करने क्रीज पर आए, लेकिन बल्लेबाजी के दौरान भी युवराज पर चोट का असर साफ दिख रहा था। युवराज अंत में 11 गेंदों में 9 रन बनाकर आउट हो गए। आपको बता दें कि रोहित और युवराज दोनों की ही चयन चैंपियंस ट्रॉफी के लिए भारतीय टीम में हो गया है और ऐसे में अगर दोनों में से किसी की भी चोट गंभीर होती तो ये भारत के लिए बड़ा झटका साबित हो सकता था।